वैभव शर्मा, चंडीगढ़।

श्रमिकों को लाभ देने के लिए केंद्र सरकार की ओर से ई-श्रम पोर्टल की शुरुआत की गई है। पूरे देश से 20 करोड़ से ज्यादा लोगों ने इस पोर्टल पर पंजीकरण किया है। वहीं चंडीगढ़ से डेढ़ लाख लोगों से ज्यादा अभी तक इस पोर्टल पर पंजीकरण कर चुके है। यह पंजीकरण सिर्फ तीन महीने में हुए है जबकि अभी भी इस पोर्टल पर शहर से लोगों का पंजीकरण करने का सिलसिला जारी है। पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराने वाले कामगार को एक ई-श्रम कार्ड जारी किया जाएगा, जिसकी मदद से रजिस्टर्ड कामगार देश में कहीं भी विभिन्न सामाजिक सुरक्षा योजनाओं का लाभ ले सकते हैं। असंगठित क्षेत्र में काम करने वाला कोई भी भारतीय नागरिक जिसकी उम्र 16 से 59 वर्ष के बीच है, वह इस योजना में पंजीकृत हो सकता है। पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन के लिए वर्कर्स को नाम, पेशा, पता, शैक्षणिक योग्यता, स्किल जैसी जानकारियां दर्ज करनी होंगी। कामगार द्वारा ई-श्रम पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करने के लिए आधार संख्या, आधार से लिक मोबाइल नंबर और बैंक खाता जरूरी है।

यह मिलेंगे पंजीकृत करने वाले श्रमिकों को लाभ

पंजीकरण वाले कामगारों का ई-श्रम कार्ड पूरे देश में स्वीकार्य है। इस ई-श्रम कार्ड से कामगारों को कई तरह के लाभ मिलते हैं। प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के तहत दो लाख रुपये तक का बीमा का कवर मिलेगा। किसी कामगार को प्रीमियम देने की जरूरत नहीं है। किसी हादसे में कामगार की मौत या विकलांगता पर दो लाख और एक लाख रुपये मिलेगा। ई-श्रम कार्डधारी असंगठित क्षेत्र के श्रमिक को प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना, स्वरोजगार करने वालों के लिए राष्ट्रीय पेंशन योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, सार्वजनिक वितरण प्रणाली, अटल पेंशन योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, राष्ट्रीय सामाजिक सहायता योजना, आयुष्मान भारत, प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजनाओं का लाभ मिलेगा।

ये सभी बनवा सकते हैं ई-श्रमिक कार्ड

कंस्ट्रक्शन वर्कर, प्रवासी श्रमिक, स्ट्रीट वेंडर, घरेलू कामगार, कृषि श्रमिक जो ईएसआइसी या ईपीएफओ के सदस्य नहीं हैं, ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकरण कर सकते हैं। ट्यूटर, घर का नौकर-नौकरानी (काम वाली बाई), खाना बनाने वाली बाई (कुक), सफाई कर्मचारी, गार्ड, ब्यूटी पार्लर की वर्कर, नाई, मोची, दर्जी, बढ़ई, प्लम्बर, बिजली वाला (इलेक्ट्रीशियन), पोताई वाला (पेंटर), टाइल्स वाला, वेल्डिग वाला, खेती वाले मजदूर, नरेगा म•ादूर, ईंट भट्ठा के म•ादूर, मूर्ती बनाने वाले, मछुवारा, रेजा, कुली, रिक्शा चालक, ठेला में किसी भी प्रकार का सामान बेचने वाला (वेंडर), चाट ठेला वाला, चाय वाला, होटल के नौकर/वेटर, रिसेप्शनिस्ट, पूछताछ वाले क्लर्क, ऑपरेटर, हर दुकान का नौकर/सेल्समैन/हेल्पर, ऑटो चालक, ड्राइवर, पंचर बनाने वाला, डेयरी वाले, सभी पशुपालक, पेपर का हॉकर, जोमैटो, स्विगी के डिलीवरी बॉय, अमे•ान, फ्लिपकार्ट के डिलीवरी बॉय (कूरियर वाले), नर्स, वार्डबॉय, आया, विभिन्न सरकारी ऑफिस के दैनिक वेतन भोगी यानी वास्तव में आपके आसपास दिखने वाले प्रत्येक कामगार का यह कार्ड बन सकता है।

Edited By: Jagran