चंडीगढ़, जेएनएन। कोरोना वायरस फैलने के कारण नगर निगम ने सभी शहर के विकास के काम रोक दिए हैं। इसके साथ ही सभी अहम बैठकें स्थगित कर दी गई हैं। 25 मार्च को वित्त एवं अनुबंध कमेटी और 30 मार्च को सदन की बैठक होनी थी जोकि खारिज कर दी गई है। इस समय जो सड़कों की कारपेटिंग का काम चल रहा था, उसे भी रोक दिया गया है। कमिश्नर केके यादव ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिया गया है। अनुबंध कमेटी और सदन के लिए कई विकास के प्रस्ताव भी तैयार किए गए थे जोकि अब पास नहीं हो पाएंगे। जबकि सेक्टर-17 के नगर निगम कार्यालय मे भी फ्लू चेक करने की मशीन लगा दी गई है। नगर निगम कमिश्नर केके यादव का कहना है कि शहर की सफाई, पानी की सप्लाई और फायर की सुविधा बंद नहीं की जाएगी।

सेक्टर-26 मंडी की सुपरविजन के लिए बनाई कमेटी

सेक्टर-26 मंडी में सिर्फ होलसेल पर ही सब्जी, फल और जरूरी खाने-पीने वाली वस्तुओं का होलसेल का कारोबार की मंजूरी दी गई है। रिटेल पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। मंडी में लोग एक दूरी बनाकर आएं, इसके लिए एक कमेटी का गठन किया गया है जिसका सुपरविजन प्रभारी कार्यकारी अभियंता जगशेर सिंह को बनाया गया है। इस कमेटी में एसडीओ स्वतंत्र सिंह, जेई वीर बहादुर और ज्ञानचंद को शामिल किया गया है। मंडी की गतिविधि चलाने के लिए पुलिस फोर्स भी मांगी गई है।

घरों से प्रतिदिन कचरा उठे, इसके लिए भी बनाई कमेटी

31 मार्च तक लॉकडाउन की स्थिति में लोगों के घरों से कचरा उठे, इसके लिए भी कमेटी का गठन किया गया है। इस काम के लिए नोडल सुपरवाइजर अधिकारी कार्यकारी अभियंता राजेंद्र सिंह को बनाया गया है। जिनको डोर-टू-डोर गारबेज व्यवस्था को सुनिश्चित करना होगा। जिन लोगों को घरों में क्वारंटाइन किया गया है, उनके घर से भी प्रतिदिन गारबेज उठेगा।

क्वारंटाइन लोगों को खाने-पीने की वस्तुएं उपलब्ध करवाएंगे अधिकारी

नगर निगम कमिश्नर ने एक ऐसी कमेटी का भी गठन कर दिया है जोकि शहर में घरों में क्वारंटाइन किए गए संदिग्ध मरीजों को खाने-पीने की वस्तुएं उपलब्ध करवाएगा लेकिन इसके लिए अधिकारियों को भुगतान करना होगा। इस कमेटी का ओवरऑल सुपरविजन कार्यकारी अभियंता हरीश सैनी को बनाया गया है। जिनका मोबाइल नंबर-9872511248 है। जबकि इनके नेतृत्व में दो टीमें काम करेंगी। पूरे शहर को इन दो टीमों में बांट दिया गया है। एक टीम में जेई अमित जनकराज और ज¨तदर वालिया शामिल हैं जबकि दूसरी टीम में अंग्रेज सिंह और जसकरण शामिल हैं। ऐसे अधिकारियों को अतिरिक्त कमिश्नर अनिल गर्ग समय-समय पर क्वारंटाइन किए गए लोगों के घरों की जानकारी अपडेट करेंगे।

कम्युनिटी सेंटर में बैठाए सब्जी और फल विक्रेता, बढ़े रेट

नगर निगम ने शहर की सभी कम्युनिटी सेंटर सब्जी और फल विक्रेताओं के लिए खोल दिए हैं। हर कम्युनिटी सेंटर में चार से छह विक्रेता बैठाए गए हैं। लेकिन सब्जियों और फलों के रेट में 30 प्रतिशत इजाफा हो गया है। शहर में कुल 42 कम्युनिटी सेंटर हैं। जहां पर लोग आकर खरीदारी कर रहे हैं। सेक्टर-26 मंडी में रिटेल पर बिकने वाली सब्जियों और फल पर पूरी तरह से पाबंदी लगा दी गई है हालांकि प्रशासन का दावा है कि वह ओवरचार्जिग करने वालों पर नजर रखे हुए हैं। जबकि चंद कम्युनिटी सेंटरों में सब्जी और फल विक्रेता बैठने के लिए तैयार नहीं हैं। वहां पर बैठाने के लिए अधिकारी वेंडर्स से बात कर रहे हैं।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!