जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। Online Fraud: चंडीगढ़ के एक व्यक्ति के साथ इंश्योरेंस पॉलिसी मैच्योर होने के बाद कुल पैसे वापस करने का झांसा देकर 20 लाख 12 हजार रुपये ठगी हुई है। सेक्टर-23बी में पीड़ित नरेंदर की शिकायत के आधार पर जांच के बाद सेक्टर-17 थाना पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कर किया है। 

शिकायतकर्ता नरेंदर सिंह ने बताया कि उसे एक अज्ञात नंबर से कॉल आई थी। कॉल करने वाले ने खुद को आइआरडीए का कर्मचारी बताया था। उसने नरेंदर को बताया कि उसकी इंश्योरेंस पॉलिसी मैच्योर हो चुकी है। उनकी तरफ से कुछ वेरिफिकेशन के बाद कुल पैसा रिटर्न करने किया जाएगा। इसके बाद उसे अलग-अलग नंबर से कॉल आने लगी। इसी तरह झांसा देकर आरोपितों ने उससे कुल 20 लाख 12 हजार रुपये की की ठगी कर ली।

ओएलएक्स पर फर्नीचर बेचने का विज्ञापन पड़ा महंगा, ग्राहक बनकर ठगा

दीपावली पर घर के पुराना फर्नीचर ओएलएक्स पर बेचना महंगा पड़ गया। विज्ञापन देने के बाद एक व्यक्ति ने फर्नीचर खरीदने के बहाने धोखाधड़ी कर ली। सेक्टर-38ए के रहने वाले रवि भूषण की शिकायत पर पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी।

शिकायतकर्ता रवि ने बताया कि उनकी बेटी ने पुराना फर्नीचर बेचने के लिए ओएलएक्स पर विज्ञापन डाला था। कुछ दिन बाद उस विज्ञापन को देखकर मनोज नाम के एक व्यक्ति ने आनलाइन संपर्क किया। फर्नीचर का मोल-भाव करने के बाद आरोपित ने पैसे आनलाइन ट्रांजेक्शन करने के नाम पर उससे लिंक शेयर कर ओटीपी की जानकारी हासिल कर लिया। इसके बाद आरोपित ने उनके अकाउंट से 18 हजार रुपये की चपत लगा दी।

ओएलएक्स पर कार बेचने के नाम पर ठगे लाखों रुपये

सेक्टर-40 में रहने वाले सौरभ को ओएलएक्स पर स्विफ्ट कार बेचने का झांसा देकर एक आरोपित ने लाखों की चपत लगा दी। पीड़ित की शिकायत के आधार पर जांच के बाद सेक्टर-39 थाना पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। पुलिस अब जांच करने में लगी है।

शिकायतकर्ता सौरभ ने बताया कि उसने ओएलएक्स पर एक व्यक्ति की तरफ से स्विफ्ट कार बेचने का पोस्ट  देखा था। जब उसने कार खरीदने की मंशा से आनलाइन संपर्क किया। इसी मोल-भाव में आरोपित ने उनसे लाखों रुपये अपने अकाउंट में ट्रांसफर करवा लिया। बाद में कार भी नहीं देने पर उसने को पुलिस में शिकायत दी।

Edited By: Ankesh Thakur