जेएनएन, चंडीगढ़/अबोहर। स्वतंत्रता दिवस की सुबह चंडीगढ़ के सेक्टर-22 के पीजी में रहने वाली अबोहर के गांव बल्लुआना निवासी दो बहनों राजवंत कौर व मनप्रीत कौर की हत्या कर दी गई थी। दोनोंं शव गत देर रात गांव पहुंचे। शनिवार को दोनों का गमगीन माहौल में अंतिम संस्कार कर दिया गया। इस मौके पर गांववासियों की आंखें नम थी और मां का तो रो रोकर बुरा हाल था। दोनों की हत्या केे आरोप में मनप्रीत के पूर्व प्रेमी को गिरफ्तार किया गया है।  

पिता सिकंदर सिंह ने बताया कि वह रोज सुबह आठ बजे अपनी बेटियों को फोन करते थे। 15 अगस्त को भी जब उन्होंने सुबह फोन किया तो दोनों ने फोन नहीं उठाया। थोड़ी देर बाद फिर फोन किया, तीसरी बार भी किया लेकिन उधर से कोई जवाब नहीं मिला तो उन्होंने अपने किसी जान-पहचान वाले को देखने के लिए भेजा। सिकंदर सिंह ने बताया कि उनकी चिंता बढ़ने लगी और पुलिस को सूचित किया तो पुलिस ने पीजी में जाकर उनके कमरे का ताला तोड़कर देखा सारी बात सामने आई।

मामले में गिरफ्तार आरोपित युवक कुलदीप यूटी पुलिस के एक पूर्व सब इंस्पेक्टर का बेटा है। कुलदीप की मनप्रीत कौर केे साथ शादी तय हुई थी, लेकिन बाद में शादी टूट गई थी। पूछताछ में खुलासा हुआ कि आरोपित कुलदीप वारदात वाले दिन मनप्रीत का मोबाइल चेक करने कमरे में गया था। इस दौरान बहसबाजी के बाद बारी-बारी दोनों बहनों की हत्या कर दी।

आरोपित से वारदात से समय पहना कपड़ा, कमरे की चाबी और कुछ हथियार बरामद किया गया। वहीं, मृतक दोनों सगी बहनें गांव- बालौना जिला अबोहर फाजिल्का निवासी राजवंत कौर व मनप्रीत कौर की बॉडी का पोस्टमार्टम करवाने के बाद परिजनों को सौंप दी।

आठ सालों से संबंध, शादी टूटने के बाद शक में वारदात

एसएसपी नीलांबरी जगदाले ने बताया कि शिवालिक विहार, जीरकपुर में परिवार के साथ रहने वाला 30 वर्षीय कुलदीप सिंह 12वीं पास है। वह प्राइवेट कंपनी में जॉब करता था। उसकी मनप्रीत से मुलाकात तकरीबन 2010 में चंडीगढ़ के एक कॉल सेंटर में एक साथ काम करते हुई थी। उनका आपस में आठ सालों से अच्छा संबंध था और दोनों के परिवार की मर्जी से शादी तय हो गई। आठ महीने पहले किसी निजी कारणों से दोनों की शादी टूटी और मनप्रीत ने कुलदीप को इग्नोर करना शुरू कर दिया। कुलदीप को शक था कि मनप्रीत का दूसरे लड़के के साथ अफेयर चल रहा है। 15 अगस्त की सुबह इसी का पता लगाने वह मनप्रीत का मोबाइल चेक करने उसके घर पहुंचा था।

चुन्नी से गला घोंटा फिर चाकू, कैंची से कर दी हत्या

कुलदीप सिंह को मनप्रीत के पीजी हाउस के बारे में चप्पा-चप्पा मालूम था। वह सुबह अपनी बाइक से पीजी हाउस छत के खुले दरवाजे से कमरे के अंदर पहुंच गया। वहा दोनों बहनें सो रही थी। पहले उसने मनप्रीत का मोबाइल खोलने की कोशिश किया कि तभी राजवंत कौर पानी पीने उठ गई। आरोपित दूसरे कोने में जाकर छुप गया। थोड़ी देर बाद उसने मनप्रीत के फिंगर प्रिंट से जबरन मोबाइल खोलने की कोशिश की। मनप्रीत के हाथ में मेहंदी लगी होने के कारण मोबाइल नहींं खुला और उसकी नींद खुल गई।

आरोपित मनप्रीत का गला चुन्नी से घोंटने लगा तो आवाज सुनकर उसकी बहन भी उठ गई। आरोपित ने मनप्रीत के गले पर चाकू और कैंची से हमलाकर लहुलूहान कर दिया। उसकी बहन को कुछ समझ आने से पहले आरोपित ने उसके गले और चेहरे पर ताबड़तोड़ हमलाकर हत्या कर दी। जिसके बाद उसने बैग में मनप्रीत का दोनों मोबाइल, अन्य सामान रख दरवाजा को बाहर से लॉक कर दिया। वह बाइक से सीधा जीरकपुर घर पहुंच गया।

हत्या के बाद बहन से राखी बंधवाई, दिल्ली स्टेशन पर किया दोस्त से संपर्क

हत्यारोपी कुलदीप सिंह ने जीरकपुर जाकर बहन से राखी बंधवाई। उसके बाद बस से अंबाला और वहा से ट्रेन पकड़ दिल्ली रेलवे स्टेशन पहुंच गया। इस दौरान वहांं जाकर उसने एटीएम मशीन से पैसा निकाला और मोबाइल से दोस्त के साथ संपर्क किया। लोकेशन ट्रैप होने के बाद सब इंस्पेक्टर सतनाम सिंह और सब इंस्पेक्टर नवीन के नेतृत्व में पहुंची पुलिस टीम ने सर्च कर गिरफ्तार कर लिया। पुलिस की जांच में पहले ही एक पड़ोसी महिला ने बताया कि सुबह लड़कियों से कमरे से तेज आवाज आ रही थी लेकिन किसी ने ध्यान नहींं दिया। घर के बाहर लगे सीसीटीवी में आरोपित कुलदीप सिंह की अलग सुबह घर से बाहर निकलते तस्वीर कैद हो गई थी।

जॉब छोड़कर बिजनेस की तैयारी में थी दोनों बह

राजवंत कौर और मनप्रीत कौर दोनों बहनों की कंपनी चंडीगढ़ से जीरकपुर शिफ्ट हो गई थी। कुलदीप सिंह से अनबन होने के बाद उन्होंने वहा नौकरी छोड़ दी। अभी दोनों बहनें दवा में कलर इस्तेमाल करने का काम लेकर अपना बिजनेस शुरू करने की प्लानिंग कर चुकी थी। उन्होंने जल्द ही मिलकर अपना बिजनेस शुरू कर लेना था। मृतक दोनों बहनों का भाई पंजाब में सब डिवीजन इंजीनियर की पोस्ट पर तैनात है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 


 

Posted By: Kamlesh Bhatt