-लोकसभा में कहा था- रिलायंस डिफेंस के पास विमान बनाने का कोई अनुभव नहीं

-नोटिस को जाखड़ ने बताया 'कागजी जहाज', बोले हमें देश की चिंता

---

राज्य ब्यूरो, चंडीगढ़: राफेल विमान खरीद मामले पर रिलायंस ग्रुप के चेयरमैन अनिल अंबानी ने कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष व गुरदासपुर के सांसद सुनील जाखड़ को कानूनी नोटिस भेजा है। जाखड़ ने नोटिस को 'कागजी जहाज' बताते हुए कहा कि उन्होंने इसका जवाब बना लिया है। वह नोटिस को हवा में उड़ा देंगे।

गौरतलब है कि जाखड़ ने लोकसभा में कहा था कि रिलायंस डिफेंस लिमिटेड के पास विमान बनाने का कोई अनुभव नहीं है। इसके अलावा मीडिया में भी जाखड़ कई बार इस डील पर सवाल उठा चुके हैं।

जाखड़ को भेजे गए नोटिस में रिलायंस ने कहा है कि उनके आरोप तथ्यों पर आधारित नहीं है। यह आरोप विरोधियों के दुष्प्रचार से प्रेरित लगते हैं। वे अपने आरोप वापस लें या कानूनी कार्रवाई भुगतने के लिए तैयार रहें। अनिल अंबानी ने जाखड़ व रणदीप सिंह सुरजेवाला समेत कई कांग्रेस नेताओं को नोटिस भेजे हैं।

लोकतंत्र की आवाज दबाने की कोशिश

जाखड़ ने बुधवार को पंजाब भवन में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि मोदी सरकार उद्योगपतियों के माध्यम से लोकतंत्र की आवाज दबाने की कोशिश कर रही है। यह राष्ट्रीय सुरक्षा का मामला है। बच्चों का खेल नहीं। मोदी सरकार ने अनिल अंबानी को कांट्रेक्ट दिया, जबकि उन्हें जहाज का कोई अनुभव ही नहीं है। उनकी कंपनी रिलाइंस डिफेंस लिमिटेड राफेल डील से मात्र 13 दिन पहले ही पंजीकृत हुई थी। ऐसा पहली बार हुआ, जब उद्योगपति घराने ने लोकतंत्र की आवाज दबाने की कोशिश की है। अनिल अंबानी जनता के चुने हुए नुमाइंदों को नोटिस भेज कर उनकी आवाज दबाने की कोशिश कर रहे हैं।

Posted By: Jagran