जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। चंडीगढ़ के दो बड़े सरकारी अस्पतालों में इसी माह नए इंस्टॉल किए गए मेडिकल ऑक्सीजन प्लांट शुरू हो जाएंगे। बता दें कि शहर में कोरोना का खतरा फिर से बढ़ने लगा है। वहीं, कोरोना की दूसरी लहर के दौरान कोरोना मरीजों ने जो टाइम देखा वह भयानक दौर था। अस्पतालों में ऑक्सीन के लिए मारामारी थी। ऐसे में अब ऐसे हालत फिर से न बनें इसके लिए शहर के मेडिकल सिस्टम को मजबूत किया गया है।

जीएमसीएच-32 और जीएमएसएच-16 में दो नए ऑक्सीजन प्लांट इस महीने शुरू होंगे। तीसरे सप्ताह तक इन दोनों ऑक्सीजन प्लांट की शुरुआत हो जाएगी। स्वास्थ्य निदेशक डा. सुमन सिंह ने बताया कि जीएमएसएच-16 में 400 लीटर प्रति मिनट और जीएमसीएच-32 में 400 लीटर प्रति मिनट ऑक्सीजन पैदा करने वाले दो नए प्लांट लगाए जा रहे हैं। वहीं, कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन की दस्तक से बचने के लिए शहर के सरकारी अस्पताल की ओपीडी में इलाज कराने के लिए लोगों को कोविड टेस्ट कराना अनिवार्य होगा।

स्वास्थ्य निदेशक डॉ. सुमन सिंह ने कहा कि जीएमएसएच-16, जीएमसीएच-32, सिविल अस्पताल सेक्टर-22, 45 और मनीमाजरा में ओपीडी के लिए कोविड टेस्ट कराना अनिवार्य होगा। स्वास्थ्य निदेशक ने बताया कि अगर कोई मरीज इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती होने जा रहा है, उसे रैपिट एंटीजन टेस्ट (आरएटी) और आरटी-पीसीआर टेस्ट दोनों कराना होगा। अगर कोई मरीज ओपीडी में इलाज के लिए जा रहा है, उसे अलग-अलग स्थिति में रैपिड एंटीजन या आरटी-पीसीआर टेस्ट कराना होगा।

ओपीडी में इलाज कराने जा रहे लोगों के लिए

अगर कोई शख्स ओपीडी में इलाज के लिए जा रहा है और उस शख्स में कोरोना के लक्षण हैं तो ऐसी स्थिति में शख्स को आरटी-पीसीआर टेस्ट कराना होगा। अगर किसी व्यक्ति में कोरोना के लक्षण नहीं हैं और ओपीडी में इलाज कराने जा रहा है, तो डॉक्टर चाहे तो रैपिड एंटीजन टेस्ट के साथ आरटी-पीसीआर टेस्ट कराने के लिए भी कह सकते हैं। आपातकालीन स्थिति में डॉक्टर की देखरेख में मरीज को पहले इलाज मुहैया कराया जाएगा, उसके साथ ही कोविड टेस्ट कराया जाएगा।

हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर शुरु होगी कोविड टेस्टिंग

जल्द ही हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर भी कोरोना टेस्टिंग शुरू होगी। स्वास्थ्य विभाग हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर कोविड टेस्टिंग की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए बंदोबस्त करा रहा है। ताकि सेंटर पर इलाज के लिए आने वाले लोगों में संक्रमण का खतरा न फैले। इसके अलावा स्वास्थ्य विभाग की ओर से पीजीआइ को कोविड टेस्टिंग की संख्या बढ़ाने के लिए कहा है। साथ ही पीजीआइ में जितने भी कोविड सैंपल टेस्टिंग के लिए आ रहे है, उनकी रिपोर्ट पोर्टल पर जल्द से जल्द उपलब्ध कराने की मांग की है।

Edited By: Ankesh Thakur