चंडीगढ़, जेेएनएन। नवनिर्वाचित मेयर राजबाला मलिक के नेतृत्व में नगर निगम सदन की पहली बैठक यहां मंगलवार को आयोजित की गई। बैठक में भगवान वाल्मीकि शोभायात्रा के दौरान बैनर पर हुए खर्च को लेकर नगर निगम के नोटिस भेजने का मामला गरमा गया। मुद्दे पर कांग्रेस और भाजपा के पार्षद भिड़ गए। मनोनीत पार्षद सचिन लोटिया ने कहा कि पिछले साल तीन शोभायात्राएं निकली गई थीं। फिर भी केवल एक शोभायात्रा में बैनर लगाने पर 67 लाख रुपये खर्च पर नोटिस क्यों भेजा गया।

उन्होंने कहा कि यह नोटिस खारिज होना चाहिए। कांग्रेसी पार्षद दल के नेता दविंदर सिंह बबला ने पूर्व मेयर राजेश कालिया से कहा कि उनके कार्यकाल में यह नोटिस भेजा गया था। उन्होंने शोभायात्रा के प्रधान को नौकरी निकालने पर भी सवाल खड़े कर दिए। बबला ने कालिया से पूछा कि कि क्या उन्हें इसकी जानकारी नहीं थी जबकि वह खुद वाल्मीकि समुदाय से हैं।

शोभायात्रा के प्रधान गुरचरण सिंह नगर निगम के अस्थाई कर्मचारी हैं, उन्हें नौकरी से निकाला गया है। बबला ने कहा कि वह बैनर लगाने के खिलाफ नहीं है उनका कहना है कि सभी धार्मिक संस्थाओं को शहर में बैनर लगाने की मंजूरी दी जानी चाहिए। कांग्रेसी पार्षद सतीश कैंथ ने पूर्व मेयर राजेश कालिया पर आरोप लगाया कि क्या उन्हें नोटिस भेजने की जानकारी नहीं थी।

नए भाजपा चंडीगढ़ अध्यक्ष सूद को दी बधाई

इससे पहले बैठक में चंडीगढ़ भाजपा के अध्यक्ष बने अरुण सूद भी पार्षद के तौर शामिल हुए। मेयर राजबाला सहित सभी पार्षदों ने अरुण सूद को चंडीगढ़ भाजपा का अध्यक्ष बनने पर बधाई दी।

पूर्व मेयर आशा जसवाल ने कहा कि उम्मीद है कि अब अध्यक्ष अरुण सूद नगर निगम को केंद्र सरकार से ज्यादा से ज्यादा बजट दिलवाने का प्रयास करेंगे। मेयर राजबाला मलिक ने कहा कि शहर के विकास के लिए उन्हें सभी पार्षदों का सहयोग चाहिए। भाजपा पार्षद शक्ति देव शाली ने मेयर राजबाला मलिक से कहा कि जैसे आप पहले थी, वैसे ही रहें ताकि शहर का भरपूर विकास हो सके।

चंडीगढ़ः मेयर बनने के बाद पहली निगम सदन बैठक की अध्यक्षता करती हुईं मेयर राजबाला मलिक।

कांग्रेसी पार्षद दल के नेता देवेंद्र सिंह बबला ने मेयर राजबाला मलिक से कहा कि वर्ष 2012 में जब वह मेयर थी तब भी कोई टैक्स नहीं लगाया गया था। हमें इस साल भी आपसे बहुत उम्मीद है। जनता पर कोई नया टैक्स न लगाया जाए। बबला ने अरुण सूद को भी अध्यक्ष बनने पर बधाई दी। सूद के अध्यक्ष बनने की खुशी में सदन में मिठाई भी बांटी गई।

सीट बदलने से नाराज हुए हीरा नेगी

पार्षद हीरा नेगी ने सदन में अपनी सीट पीछे किए जाने पर नाराजगी जताई। हीरा की ने कहा कि वह सदन की मर्यादा का ख्याल रखेगी जहां उनकी सीट तय की गई है, वहीं बैठेंगी। इस पर मेयर राजबाला मलिक ने कहा कि सभी पार्षद तय सीटों पर ही बैठें। बता दें कि हीरा नेगी इस बार मेयर पद की एक दावेदार थीं।

 

 

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!