जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख माडविया ने कहा कि कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन से लोगों को सर्तक रहने की जरूरत है। विदेश से भारत लौट रहे लोगों को भी यह सुनिश्चित करना होगा कि वह संक्रमण को फैलने से रोकें। इसके लिए हाई रिस्क एरिया से आ रहे लोगों को तत्काल स्थानीय प्रशासन को इसकी जानकारी देनी चाहिए। इसके अलावा लोगों को कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज अनिवार्य रूप से लगवाना सुनिश्चित करना चाहिए। स्वास्थ्य मंत्री रविवार देर शाम पीजीआइ चंडीगढ़ पहुंचे। इस दौरान उनके साथ केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर भी थे।

पीजीआइ चंडीगढ़ पहुंचकर उन्होंने मेडिकल पॉलिसी, नए प्रोजेक्ट्स, मरीजों को उपलब्ध कराए जा रहे इलाज और नई तकनीक के बारे में प्रेजेंटेशन के जरिये जानकारी प्राप्त की। उन्होंने कोरोना संकट से निपटने के लिए तैयारियों का भी जायजा लिया। इस दौरान पीजीआइ निदेशक प्रो. सुरजीत सिंह ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री को जानकारी दी।

एडवांस ट्रामा सेंटर में जाकर जाना मरीजों का हाल

मनसुख माडविया ने इस दौरान पीजीआइ के एडवांस ट्रामा सेंटर में जाकर मरीजों का हाल जाना। उन्होंने कुछ मरीजों से बात भी की। मरीजों को किस प्रकार की सुविधाएं और इलाज मुहैया कराया जा रहा है, इसके बारे में भी उन्होंने ड्यूटी पर मौजूद सीनियर डाक्टरों से जानकारी ली।

एडवांस न्यूरो ब्लॉक और सैटेलाइट सेंटर के बारे में भी ली जानकारी

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री को पीजीआइ प्रशासन की ओर से एडवांस न्यूरोसाइंस सेंटर और एडवांस मदर एंड चाइल्ड केयर सेंटर के बारे में जानकारी दी गई। पीजीआइ निदेशक ने बताया कि साल के अंत तक इस ब्लॉक का निर्माण कार्य पूरा कर इसे शुरू कर दिया जाएगा। इसके अलावा उन्हें सारंगपुर में पीजीआइ सेटेलाइट सेंटर, फिरोजपुर और हिमाचल के ऊना के सेटेलाइट सेंटर के बारे में भी जानकारी दी गई।

लगातार चार साल से बेस्ट मेडिकल कॉलेज का अवार्ड मिलने पर दी बधाई

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख माडविया ने पीजीआइ निदेशक समेत पूरे स्टाफ को लगातार चार साल से बेस्ट मेडिकल कॉलेज का अवार्ड मिलने पर बधाई दी। इसके बाद उन्होंने पीजीआइ प्रशासन को निर्देश दिया कि नए वेरिएंट और संभावित तीसरी लहर से लोगों को सुरक्षित रखने और संक्रमित मरीजों को बेहतर इलाज मुहैया कराने के लिए पुख्ता बंदोबस्त किए जाएं। उन्होंने ऑक्सीजन की सप्लाई से लेकर संक्रमित मरीजों के बेड और वेंटिलेटर का पूरा बंदोबस्त सुनिश्चित करने के लिए कहा।