जेएनएन, चंडीगढ़। पंजाब के पूर्व कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह पर दिन-ब-दिन हमलावर हो रहे हैं। अब वे खुलकर उनका विरोध करने लगे हैं। हालांकि उन्होंने अभी ट्विटर के जरिए किए जा रहे हमलों में उनको नाम लेकर निशाना नहीं बनाया है, लेकिन उनके पद का नाम लेकर उन पर तीखा हमला बोल रखा है।

बेअदबी मामले को लेकर उन्होंने आज एक बार फिर से ट्वीट के जरिए कैप्टन अमरिंदर सिंह पर हमला बोला है। पंजाब सरकार की ओर से कल कोटकपूरा गोली कांड की जांच के लिए बनाई गई नई एसआइटी का ट्विटर के जरिए सिद्धू ने जवाब दिया है। सिद्धू ने ट्वीट में कहा है कि राज्य के गृह मंत्री की नाकामी के कारण हाई कोर्ट के उस फैसले को सरकार मजबूरी में स्वीकार कर चुकी है जिसका राज्य के लोग विरोध कर रहे हैं।

सिद्धू ने कहा कि अब इस मामले में नई एसआइटी बनाकर इस मुद्दे को छह महीने पीछे डाल दिया गया है, जबकि 2017 में चुनाव से पहले यह कांग्रेस और पंजाब के लोगों का सबसे बड़ा मुद्दा था। दोषियों को सजा देने का वादा करके सत्ता में आई कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार ने अब इसे छह महीने आगे डाल दिया है, क्योंकि सरकार ने एसआईटी से छह महीने में जांच पूरी करने को कहा है।

उन्होंने कहा कि इससे साफ है कि सरकार अपने ही चुनावी वादे को लटका रही है और जब तक छह महीने पूरे होंगे, तब तक पंजाब में चुनावी अचार संहिता लागू हो चुकी होगी। सिद्धू ने ट्वीट के साथ कैप्टन का एक पुराना वीडियो भी शेयर किया है, जिसमे कैप्टन बेअदबी मामले में प्रकाश सिंह बादल और उनके परिवार को टांग देने की बात कर रहे हैं।

कोटकपूरा गोलीकांड को लेकर नवजोत सिद्धू ने कुछ दिन पहले भी यह वीडियो शेयर किया था जिसके दो हिस्से थे। जिनमें से एक कैप्टन अमरिंदर सिंह कह रहे हैं कि जब वह सरकार में आएंगे तो बादलों को सजाएं दिलाएंगे जबकि दूसरी हाल में एक इंटरव्यू में कैप्टन ने कहा कि ऐसा नहीं किया जा सकता है। एसआईटी जांच कर रही है और मैं जांच में दखल नहीं दे सकता।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप