जेएनएन, चंडीगढ़। पिछले साल जुलाई महीने से ट्वीटर पर चुप्पी साधे कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू फिर सक्रिय हो गए हैं। उन्होंने किसानों के मुद्दे पर शायराना अंदाज में टिप्पणी की। लिखा कि जंग की तूती बोल रही है। उन्होंने लिखा कि पंजाब, पंजाबियत और हर पंजाबी किसान के साथ है। सिद्धू पिछले 21 जुलाई 2019 के बाद आज सक्रिय हुए हैं। उन्होंने पिछली बार मंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद टिप्पणी की थी, इसके बाद वह ट्विटर पर चुप थे। 

आज पंजाबी में किए ट्वीट पर नवजोत सिंह सिद्धू ने लिखा किसानी पंजाब की रूह, शरीर के घाव भर जाते हैं पर आत्मा के नहीं। हमारे अस्तित्व पर हमला बर्दाश्त नहीं। जंग की तूती बोलती है- इंकलाब जिंदाबाद। पंजाब, पंजाबियत और हर पंजाबी किसान के साथ। 

सिद्धू ने इसके बाद एक और ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने लिखा, ''सरकारें तमाम उम्र यही भूल करती रही, धूल उनके चेहरे पर थी, आईना साफ करती रही।'' सिद्धू का यह ट्वीट ऐसे समय में आया है, जब राज्य में किसानों के मुद्दे पर जमकर सियासत हो रही है।

यह भी देखें: खेती पंजाब की आत्मा, रूह पर हमला बर्दाश्त नहीं : नवजोत सिंह सिद्धू

अपने एक और ट्वीट में सिद्धू ने कहा कि किसान पंजाब की आत्मा है। हमारे अस्तित्व हमारी आत्मा पर वार बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। कहा कि हर पंजाबी किसान के साथ है। उन्होंने लिखा, जंग की तूती बोल रही है।

बता दें, किसानों के मुद्दे पर पंजाब में सियासत एकदम गरमा गई है। राज्य के प्रमुख दल कांग्रेस, अकाली दल, आम आदमी पार्टी कृषि विधेयकों के खिलाफ हैं। केंद्र में भाजपा की सहयोगी अकाली दल की नेत्री हरसिमरत कौर बादल तो केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा भी दे चुकी हैं। इसके बाद पंजाब में किसानों के हितैषी होने के लिए राज्य के नेताओं में होड़ लगी हुई है। 

राज्य में किसान धरनों पर हैं तो सियासी नेता बयानों से एक-दूसरे पर वार कर रहे हैं। अब तक लंबे समय से चुप्पी साधे नवजोत सिंह सिद्धू भी अब इस वार में कूद पड़े हैं। बता दें, राज्य में किसान एक बहुत बड़ा वोट बैंक है। कोई भी नेता इनको नाराज कर राज्य में राजनीति नहीं कर सकता। ऐसे में सभी नेता किसानों के साथ खड़े होने के लिए एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप में लगे हुए हैं। 

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!