डेराबस्सी, जेएनएन। अपने दोस्त मनप्रीत को खोने के बाद उसकी याद बहुत आती थी। इस याद को खत्म करने व मनप्रीत अगर होता तो वो कितना बड़ा होता, इन्हीं विचारों को जिंदा रखने के लिए डेराबस्सी के गुरुकुलम इंस्टीट्यूट के स्टूडेंट्स ने शहर में पौधे लगाने की शुरुआत की है। इस सीजन के दौरान युवा स्टूडेंट्स ने संस्थान के छाया प्रोजेक्ट के तहत 2000 के करीब पौधे लगाए। इस प्रोजेक्ट में संस्थान की संचालिका मीनाक्षी वैष्णव ने उनका साथ दिया। उनके नेतृत्व में ये अभियान चलाया गया।

स्टूडेंट्स ने कहा कि पौधे लगाने के साथ-साथ लोगों को इस बात के लिए जागरूक किया गया है कि वे अपने चाहने वाले जो उन्हें छोड़कर चले गए हैं, उनकी याद में पौधे लगाएं। जिसके बाद इस अभियान में बहुत से लोग साथ आ गए। स्टूडेंट स्पर्श रैना ने बताया कि शमशान घाट, सरकारी स्कूल, हाइवे के किनारे पौधे लगाए गए। उन्होंने बताया कि इसी साल मनप्रीत की डेथ हो गई थी। मनप्रीत को हम अपनी यादों में जिंदा रखना चाहते हैं। इसलिए उसके नाम पर पौधे लगाए। कई स्टूडेंट्स ने अपने फ्रेंड्स के नाम पर पौधे लगाए।

इन युवा स्टूडेंट्स ने लगाए शहर में पौधे

शहर के युवा स्टूडेंट्स जतिन सिंह, स्पर्श रैना, राही रैना, चाहत सूद, साक्षी शर्मा, दिवांशी गुप्ता, सक्षम वशिष्ट, अनमोल दीप, विशाल महेंद्ररू, भाव्या, गुरदीप सिंह, विश्वास कुमार, मनीष कुमार, अंश महेंद्रू, रितिक महेंद्रू ने शहर में पौधे लगाए। स्टूडेंट्स ने कहा कि वे आगे भी इस तरह से पौधे लगाएंगे। वे लोगों से भी अपने चाहने वालों के नाम पर पौधे लगाने को कहेंगे। मीनाक्षी वैष्णव ने कहा कि इस अभियान के साथ लोगों को जोड़ा जा रहा है। अब इन पौधों की देख-रेख की जाएगी ताकि वे पेड़ बन सकें।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!