संवाद सहयोगी, जीरकपुर : चंडीगढ़ के अर्बन प्लानिग डिपार्टमेंट ने इंजीनियरिग विभाग को हरमिलाप नगर-रायपुरकलां रेल फाटक पर अंडरपास बनाने की हरी झंडी दे दी है। अगर अंडरपास बन जाता है तो इस फाटक पर लगने वाले जाम से लोगों को निजात मिल सकती है। वहीं, इस अंडरपास के बनने से बलटाना की करीब 35 से ज्यादा कॉलोनियों के लोगों को फायदा होगा। इस फाटक की जगह अंडरपास बनाने का काम काफी महत्वपूर्ण है। जीरकपुर और चंडीगढ़ के बीच हर रोज करीब बीस हजार से ज्यादा वाहन रोज यहां से गुजरते हैं। लोगों को इस समय फाटक की वजह से रूटीन में काफी समय बर्बाद करना पड़ता है। करीब पच्चीस से तीस मिनट के अंतराल पर यहां रेलगाडि़यां गुजरती हैं और इतनी ही बार फाटक बंद करना पड़ता है। ट्रैफिक क्लीयर होने में लगता है समय

इस फाटक पर इतना ट्रैफिक रहता है कि एक रेलगाड़ी के गुजरने के बाद आधे घंटे तक ट्रैफिक क्लीयर होता है। इतने में दूसरी गाड़ी के लिए फाटक बंद करना होता है। कई बार ट्रेन को निकालना गार्ड के लिए मुश्किल हो जाता है। बलटाना निवासी पायल जैन ने बताया कि वह बलटाना के सैनी विहार में रहती है। चंडीगढ़ में काम करती है। हर रोज जब शाम को लौटती हैं तो उक्त फाटक बंद मिलता है। अगर अंडरपास बन जाता है तो इससे समय की बचत होगी। वहीं, हर रोज लगने वाले जाम से भी छुटकारा मिलेगा। दुकान के बाहर लगी रहती है वाहनों की कतारें

बलटाना मेन बाजार में काम करने वाले कपिल ने कहा कि उनकी दुकान फाटक से कुछ दूर है। कई बार जाम लगने के बाद दुकान के बाहर भी वाहनों की कतारें घंटों लगी रहती है। रेलवे फाटक की जगह अंडरपास बनाने के दौरान ट्रैफिक रुकेगा नहीं। बल्कि फाटक पहले की तरह ही चलता रहेगा। इससे पब्लिक को बड़ी राहत मिलेगी। अंडरपास को फाटक से कुछ दूर बनाया जा रहा है। इस वजह से ट्रैफिक की आवाजाही में किसी तरह की रुकावट नहीं आएगी।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!