जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। 22 लाख रुपये में खरीदी नई कार 1800 किलोमीटर चलने के बाद ही गाड़ी के पार्ट्स में दिक्कत आने लगी। जिसके बाद कार मालिक सेक्टर-38 के विवेक कुंडू ने कंपनी के खिलाफ स्टेट कंज्यूमर कमीशन में शिकायत कर दी। शिकायत के आधार पर कमीशन ने पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज को कार की जांच करने वाली एक कमेटी बनाने और जल्द रिपोर्ट सौंपने के निर्देश दिए हैं। रिपोर्ट के आधार पर केस में फैसला सुनाया जाएगा। शिकायतकर्ता ने गाड़ी की कीमत वापस करने या नई गाड़ी देने की मांग की हैं।

शिकायतकर्ता पक्ष से वकील हरीश छाबड़ा ने बताया कि विवेक कुंडू ने 5 जनवरी 2017 को हिसार के सिद्धांत मोटर्स से फोर्ड कंपनी की इंडेवर कार 22 लाख 10 हजार 489 रुपये में खरीदी थी। कार खरीदने के लिए 12 लाख 50 हजार रुपये लोन भी लिया। जिसकी महीने की इएमआइ 26100 रुपये है। इसके अलावा गाड़ी की रजिस्ट्रेशन का खर्च एक लाख 36 हजार 601 रुपये आया। इसके बाद एक महीने में ही गाड़ी के डेशबोर्ड से आवाज आने लगी। धीरे-धीरे आवाज काफी तेज होने लगी और गाड़ी भी चलते हुए बंद होने लगी।

11 फरवरी 2017 को उनकी गाड़ी ट्रैफिक लाइट पॉइंट पर ही बंद हुई फिर दूसरे ही दिन पटियाला लांडरां रोड पर गाड़ी का इंजन अचानक बंद हो गया। इसके बाद उन्होंने गाड़ी को एबी मोटर्स इंडस्ट्रियल एरिया में चेक करवाया। उन्होंने कहा कि गाड़ी के इंजन में लगे सेंसर में कुछ दिक्कत थी। जिसके सामान उनके पास उपलब्ध ही नहीं था। आरोप है कि बरसात में गाड़ी के वाईपर ने भी काम करना बंद कर दिया और आवाज आने लगी। इसके बाद सलूजा फोर्ड, इंडस्ट्रियल एरिया में गाड़ी दोबारा चेक करवाया गया। इस दौरान गाड़ी चेक करने के बावजूद समस्या ठीक नहीं हुई। इसी बीच गाड़ी के टायर्स में भी क्रैक आ गए। जिसके बाद विवेक कुंडू ने कंपनी के खिलाफ कंज्यूमर कमीशन में शिकायत कर दी।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Pankaj Dwivedi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!