जेएनएन, चंडीगढ़ । ठंड की दस्तक के साथ ही डेंगू का खतरा भी बढऩे लगा है। जिसे गंभीरता से लेते हुए मलेरिया विभाग ने गतिविधियां तेज कर दी हैं। विभागीय अधिकारियों के साथ ही उनके हेल्थ वर्कर घर-घर जाकर लोगों को इससे बचाव केलिए जागरूक कर रहे हैं।

डॉक्टरों का कहना है कि मौसम में नमी बढऩे के साथ ही डेंगू फैलाने वाले एडीज मच्छर के बढऩे का खतरा तेज हो गया है। ऐसे में जरूरी है कि लोग डेंगू से बचाव के प्रति सचेत रहे और घर और आस-पास साफ-सफाई रखें। पानी एकत्र करने की आदत से तौबा कर लें। डेंगू के लक्षण के साथ बुखार आये तो उसे नजरअंदाज करने की बजाय तत्काल डॉक्टर के पास जाए।

जांच से इलाज तक की सुविधा उपलब्ध

डेंगू पर काबू के लिए स्वास्थ्य विभाग ने पूरी तैयारी की है। सेक्टर 16 स्थित गवर्नमेंट मल्टी स्पेशिएलिटी हॉस्पिटल के एमएस डॉ. वीके नागपाल ने बताया कि डेंगू से बचाव के लिए हर स्तर पर व्यवस्था पूरी कर ली गई है। डेंगू के लक्षण वाले मरीजों की एलाइजा जांच के साथ ही पॉजिटिव केस में मरीज को भर्ती कर इलाज के लिए आइसोलेटेड वार्ड बनाया गया है। जिससे उन मरीजों को बेहतर इलाज मुहैया कराया जाए। वहीं असिस्टेंट डायरेक्टर मलेरिया का कहना है कि डेंगू और मलेरिया से बचाव के लिए व्यापक स्तर पर ड्राइव चलाया जा रहा है। जागरूकता अभियान का असर नजर आ रहा है। लोग अपने घर और आस-पास के क्षेत्रों में मच्छरों से बचाव के उपाय अपनाने लगे हैं।

ये लक्षण दिखें तो संभल जाए

 अचानक तेज बुखार, सिर दर्द, आंखों के पीछे दर्द, मांसपेशियों (बदन) व जोडों में दर्द, भूख न लगना, छाती और ऊपरी अंगो पर चकत्ते आना, घबराहट, मिचली।

-वातावरण में नमी बढ़ने से बढ़ा डेंगू का खतरा

ऐसे फैलती है बीमारी

डेंगू मानव संर्पक के माध्यम से नहीं फैलता है, बल्कि वायरस फैलाने वाले मच्छर मादा एडीज के काटने से फैलता है। यह मच्छर दिन के समय काटता है। इसकी सबसे खास बात यह है कि यह साफ पानी और साफ स्थान पर पाया जाता है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Vipin Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!