चंडीगढ़ : जीरकपुर में प्रसिद्ध फिल्म निर्देशक महेश भट्ट और उनकी बेटी पूजा भट्ट शनिवार को जीबीपी ग्रुप एथेंस प्रोजेक्ट का दौरा किया। भट्ट और पूजा शहर में अपने नाटक 'डैडी' के लिए आए हुए थे। जीबीपी ग्रुप ने पिछले साल जीरकपुर में एथेंस के अपने स्मार्ट 713 लैट टाउनशिप प्रोजेक्ट को लांच किया था। सभी आधुनिक सुविधाओं के साथ टाउनशिप 14 एकड़ के क्षेत्र में 2 बीएचके, 3 बीएचके और 4 बीएचके लक्जरी अपार्टमेंट और पेंट हाउस की उत्पाद लाइन के साथ फैली हुई है। एथेंस 200 फीट चौड़ी इटरनेशनल एयरपोर्ट रोड पर स्थित है और ये एनएच 22 से आधा किलोमीटर की दूरी पर मैक डोनाल्ड, जीरकपुर के पास स्थित है। महेश भट्ट ने मीडिया को डैडी के नाटकीय संस्करण के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा, अर्थ के नाटकीय रूपातरण की शानदार सफलता से उत्साहित होने के बाद, जिसे महिला दिवस पर नई दिल्ली में एक जाम-पैक ऑडिटोरियम में प्रस्तुत किया गया था। उन्होंने डैडी के नाटकीय रूपातरण के साथ आने का फैसला किया। एथेंस प्रोजेक्ट के दौरे के बाद महेश भट्ट ने कहा, गुणवत्ता आवास के लिए बढ़ती माग हमेशा आरामदायक जीवनशैली के लिए है। उन्होंने इस दौरान जीबीपी के सैंपल लैटस की सराहना भी की। द लास्ट सेल्यूट, अर्थ और ट्रायल ऑफ एररर्स की भव्य सफलता के बाद जाने माने फिल्म डायरेक्टर, निर्माता और पटकथा लेखक ने 1989 में रिलीज हुई अपनी क्लासिक फिल्म डैडी के नाटकीय मंचन को प्रस्तुत किया है। एलाते मॉल में प्रस्तुत इस नाटक में एक शराबी पिता और उसकी किशोर बेटी के अशात संबंधों को दर्शाया गया है। कंपनी के डायरेक्टर सेल्स अनुपम गुप्ता ने कहा, जीबीपी प्रोजेक्ट में इस तरह के महान व्यक्तित्वों के आने पर वे बेहद खुश है। उन्होंने कहा कि महेश भट्ट एक ऐसे फिल्म निर्देशक है, जिन्होंने भारतीय फिल्म उद्योग के परिदृश्य को बदल दिया था और पूर्णतावादी होने के समान गुण उनकी बेटी पूजा भट्ट में भी है जो कि आज खुद भी एक सफल फिल्म निर्माता है। इस दौरान ग्रुप प्रबंधन ने अपने विचार रखे।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!