जासं, चंडीगढ़। चंडीगढ़ के छोटे दुकानदार मार्केट को शाम 5 बजे के बजाए रात सात बजे बंद करने की मांग कर रहे हैं। इसके विरोध में उन्होंने नई मार्केट में प्रदर्शन भी किया। फिलहाल, यूटी प्रशासन ने उनकी मांग पर ध्यान नहीं दिया और मार्केट खोलने के समय में कोई बदलाव नहीं किया है। मार्केट पहले की तरह ही खुलती और बंद होती रहेगी।

सेक्टर-22 शास्त्री मार्केट, सेक्टर-19 सदर बाजार और पालिका मार्केट, सेक्टर-15 पटेल मार्केट और सेक्टर-41 की कृष्णा मार्केट शाम पांच बजे ही बंद होगी। इन सभी छोटी भीड़ वाली मार्केट में कोरोना संक्रमण के डर से प्रशासन ने समय में कोई बदलाव नहीं किया है। बाकी सभी मार्केट पहले की तरह सामान्य तौर पर खुलती रहेंगी। इनके लिए बंद करने की कोई समय सीमा अलग से निर्धारित नहीं की गई है। व्यापारी सभी मार्केट का समय एक जैसा करने की बात कर रहे थे। कोविड वार रूम मीटिंग में प्रशासक बनवारी लाल पुरोहित ने फिलहाल कोई नई पाबंदी लगाने और ढील देने का फैसला नहीं लिया है। अब देखना होगा कि छोटे व्यापारी आगे क्या निर्णय लेते हैं।

मास्क नहीं पहना तो संस्थानों पर लगेगी पेनल्टी

मास्क नहीं पहनने और सार्वजनिक स्थानों पर बिना मास्क पहुंचने वालों पर सख्ती की जाए। मास्क नहीं पहनने वाले किसी अकेले व्यक्ति ही नहीं इंस्टीट्यूशन पर भी पेनल्टी लगाकर कार्रवाई की जाए। जिनके इंप्लाइज मास्क नहीं पहन रहे। यह आदेश प्रशासक बनवारी लाल पुरोहित ने कोविड वॉर रूम मीटिंग में दिए। कोरोना से निपटने के लिए की गई तैयारियों को रिव्यू कर उन्होंने तेजी से कदम उठाने के आदेश दिए।

किशोरों का टीकाकरण तेजी से करें

15 से 18 आयु वर्ग में टीकाकरण रेट को सुधारने को भी कहा। अभी तक इस केटेगरी में 66.37 फीसद वैक्सीनेशन हुई है। उन्होंने अन्य वर्ग में भी कोविड की दूसरी डोज जल्द पूरी करने के लिए कहा। पुरोहित ने कहा कि कोरोना वायरस से लड़ने का वैक्सीनेशन ही बड़ा हथियार है। अस्पतालों में 70 फीसद बेड की उपलब्धता होने पर उन्होंने किसी भी तरह के हालात से निपटने की तैयारियों पर संतुष्टि जाहिर की।

Edited By: Pankaj Dwivedi