चंडीगढ़, [वीणा तिवारी]। हाथों की लकीरों में लिखा है जो तकदीरों में... यह लाइन बयां कर रही है कि हाथों की लकीरों में Future लिखा होता है। लेकिन अब इन लकीरों पर खतरा मंडराने लगा है। इससे भविष्य छोड़‍िये वर्तमान बचाना मुश्किल होने लगा है।

Biometric Identity Proof के दौर में लोगों के अंगुलियों की लकीरें मिट रही हैं। ऐसा हो रहा है Finger Print Agzima नामक Skin Problem से। जो एक अंगुली से शुरू होकर दोनों हाथों की सभी लकीरों को मिटा दे रही है। इस समस्या से कोई Bank अकाउंट नहीं खुलवा पर रहा तो कोई Office में अपनी Attendance नहीं दर्ज करा पा रहा है। इस समस्या से जूझने वाले लोगों की संख्या दिनों दिन तेजी से बढ़ रही है। लेकिन, Government की ओर से इसे लेकर अब तक कोई Guideline जारी नहीं किया गया है। Skin Specialist  ने इस से बचाव के लिए नमस्ते कैंपेन शुरू कर दिया है। उनका मानना है कि हाथ मिलाने से परहजे करके खुद को इस बीमारी से बचाया जा सकता है।

नमस्ते कैंपेन से बचाव का प्रयास

इस समस्या से बचाव के लिए देशभर के Dermatologist नमस्ते कैंपन को फेवर कर रहे हैं। Indian Association Of Dermatologist के मेंबर और National Skin Hospital के डॉ. विकास ने बताया कि उन्होंने अपने हॉस्पिटल को शेकहैंड फ्री जोन डिक्लेयर किया है। क्योंकि हाथों से जुड़ी Skin प्रॉब्लम हाथ मिलाते से तेजी से बढ़ता है। अभिवादन के लिए हाथ मिलाने की बजाय नमस्ते करने की आदत डालने की सलाह दी जा रही है। इसे कैंपेन को एसोसिएशन काफी प्रमोट कर रहा है।

हेपेटाइटिस का भी खतरा

हाथ मिलाने से Skin डिजीज के साथ ही हेपेटाइटिस बी और सी होने का भी खतरा रहता है। GMCH Sector 16 के Skin Specialist डॉ. मंजीत ने बताया कि स्किन Problem के मरीज मौसम में बदलाव के दौरान ज्यादा आते हैं। उनमें हथेली में Fungal Infection के मामले बाकी की तुलना में ज्यादा होता है। इसलिए लोगों को हेंड टू हेंड कम्यूनिकेशन की बजाय नमस्ते करके अभिवादन करने की सलाह दी जाती है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Sat Paul

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!