चंडीगढ़, जेएनएन। मंडी में प्याज का दाम 100 रुपये के पार पहुंच चुका है। लोगों को 100 से 120 रुपये प्रति किलो प्याज खरीदना पड़ रहा है। प्याज की महंगाई ने खाने का स्वाद बिगाड़ दिया है। ऐसे में शहर के नामी शैफ संजीव गिल ने प्याज के विकल्प के तौर पर गृहिणियों को कुछ नुस्खे अपनाने के लिए कहा है। ताकि प्याज की महंगाई का असर लोगों की खाने पर न पड़े। इसके लिए शेफ संजीव गिल ने बताया कि प्याज के बढ़ते दामों से घबराने की जरूरत नहीं है। प्याज की जगह गृहिणियां कुछ ऐसे नुस्खे अपनाकर खाने का स्वाद बढ़ा सकती है।

प्याज की जगह इन विकल्पों से बना रहेगा खाने का स्वाद

शैफ ने बताया कि प्याज का सब्जी में इस्तेमाल ग्रेवी का गाढ़ा बनाने के लिए किया जाता है। ऐसे में सब्जी की ग्रेवी को गाढ़ा करने और उसे स्वाद बनाने के लिए गृहिणियां चाहें तो प्याज की जगह दही और मूंगफली के पेस्ट का इस्तेमाल कर सकती हैं। इससे न केवल ग्रेवी गाढ़ी होगी। बल्कि सब्जी का स्वाद भी बढ़ेगा।

आटा या मैदा: शैफ संजीव ने बताया कि गृहणियां चाहें तो करी को गाढ़ा करने के लिए आटे या मैदा का भी इस्तेमाल कर सकती हैं। तेल में आटे या मैदे को भूरा होने तक भूनें और उसके बाद उसमें टमाटर डाल दें।

खीरा या गाजर: सब्जी में प्याज का कुरकुरा स्वाद पाने के लिए गृहणियां चाहें तो खीरा, गाजर और हरा प्याज का भी इस्तेमाल कर सकती हैं।

लहसुन: महंगे प्याज की जगह सब्जी में लहसुन का इस्तेमाल किया जा सकता हैं। प्याज की जगह लहसुन का पेस्ट भी प्रयोग किया जा सकता है। लहसुन न सिर्फ सब्जी का टेस्ट बढ़ाएगा बल्कि सेहत के लिए भी कई तरह से फायदेमंद है।

टमाटर और कद्दू: सब्जी को स्वाद बनाने के लिए टमाटर और कद्द् के पेस्ट का प्रयोग भी सब्जी में किया जा सकता हैं।

प्याज का ज्यादा स्टाक रखने पर रेड

प्रशासन के फूड एंड सप्लाई डिपार्टमेंट के अधिकारियों ने दो टीमें बना रखी हैं। जो जगह-जगह छापामारी कर स्टॉक जमा कर रखने वालों पर कार्रवाई कर रही है। केंद्र सरकार के साथ ही चंडीगढ़ प्रशासन ने भी स्टोरेज की सीमा को कम करने के संदर्भ में नोटिफिकेशन जारी कर रखा है। जिसके तहत होलसेलर के पास 25 हजार किलो और रिटेलर के पास पांच हजार किलो से अधिक प्याज मिलने पर सख्त कार्रवाई का प्रावधान किया गया है। ऐसे में विभाग की ओर से व्यापारियों पर पैनी नजर रखी जा रही है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Sat Paul

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!