रूपनगर/चंडीगढ़ , जेएनएन। Khalistani Terrorist:  पंजाब के रूपनगर जिले के चमकौर साहिब में खालिस्‍तान टागर फोर्स (केटीएफ) के माड्यूल का खुलासा हुआ है। पुलिस ने पाकिस्‍तानी खुफिया एजेंसी आइएसआइ द्वारा भेजे गए हथियारों को को ठिकाने लगाने और विभिन्‍न स्‍थानों पर पहुंचाने वाले केटीएफ के दो आतंकियों को गिरफ्तार किया है। 

पाकिस्‍तान से ड्रोन के जरिये पंजाब में भेजे गए हथियार को विभिन्‍न स्‍थानों पर पहुंचाते थे दोनों आतंकी  

रूपनगर पुलिस ने  खालिस्तान टाइगर फोर्स ( केटीएफ) आतंकी माड्यूल के इन दो गुर्गों की गिरफ्तारी से गिरोह को बड़ा झटका दिया है। दोनों आरोपितों ने यह कबूला है कि उन्‍होंने पाकिस्‍तान से ड्रोन से आए हथियारों को कनाडा में रह रहे गैंगस्टर अरशदीप सिंह उर्फ अरश डाला की तरफ से बताए खास ठिकानों पर पहुंचाते थे। इन हथियारोंंका इस्‍तेमाल  सांप्रदायिक सदभावना को भंग करने के लिए सुनियोजित कत्ल के लिए किया जाना था।

कनाडा में रह रहे गैंगस्‍टर अरशदीप सिंह उर्फ अरश डाला के लिए दोनाें आतंकी 

पंजाब के डीजीपी गौरव यादव ने बताया कि आतंकी माड्यूल कनाडा में रह रहे गैंगस्टर अरशदीप सिंह उर्फ अरश डाला द्वारा चलाया जा रहा है। वह केटीएफ के कनाडा स्थित प्रमुख हरदीप सिंह निझ्झर का नजदीकी साथी है।उन्होंने बताया कि पकड़े गए आरोपित वीजा सिंह उर्फ गगन उर्फ गग्गू मोगा जिले के  गांव चंद नवां  और रणजोध सिंह उर्फ ज्योति मोगा जिेले के  गांव गंजी गुलाब सिंह वाला का निवासी हैं।

दो हथियार और कारतूस बरामद किया गया

पुलिस ने इनके पास से एक .22 बोर का रिवाल्वर और .32 बोर का पिस्तौल समेत 21 कारतूस बरामद किए गए हैं। फिरोजुपर के गांव आरिफके धान के खेतों से एक आधुनिक एके- 47 असाल्ट राइफल समेत दो मैगजीनें और 60 कारतूस बरामद किए जाने केे चार दिन बाद की गई है। जांच से पता लगा है कि यह खेप गैंगस्टर अरश डाला के निर्देश पर ड्रोन सेे फेंकी गई थी और इसको गांव आरिफके से वीजा सिंह और रणजोध सिंह ने प्राप्त करना था।

डीजीपी गौरव यादव ने बताया कि फिरोजपुर से हथियारों की बरामदगी के बाद आतंकियों को पकड़ने के लिए राज्य भर में खुफिया एजेंसी के नेतृत्व में मुहिम चलाई गई थी और पुख्ता सूचना के आधार पर रूपनगर पुलिस ने शनिवार और रविवार की बीच का रात चमकौर साहिब क्षेत्र से दोनों आतं‍कियों को काबू किया।

उन्होंने बताया कि प्राथमिक पूछताछ के दौरान काबू किए व्यक्तियों ने कबूल किया है कि वे गैंगस्टर अरश डाला के निर्देशों पर यह खेप बरामद करने के लिए गांव आरिफके गए थे लेकिन असफल रहे। बाद में खेत के मालिक की सूचना के आधार पर फिरोजपुर पुलिस की तरफ से इस खेप को बरामद कर लिया गया।

एफआइआर दर्ज

रूपनगर के एसएसपी डा.संदीप गर्ग ने बताया कि इस मामले की जांच जारी है और जल्दी ही और गिरफ्तारियों की उम्मीद है। आरोपितों के खिलाफ थाना चमकौर साहिब में एफआईआर दर्ज की गई है।

गैंगस्टर अरश डाला की प्रत्यर्पण के लिए कोशिश जारी

कनाडा स्थित अरश डाला मोगा के गांव डाला का मूल निवासी है। वह पंजाब और विदेश में अलग- अलग अपराधिक गतिविधियों में शामिल रहा है और पंजाब पुलिस के लिए मोस्टवांटेड है। उसकी शमूलियत पंजाब के सरहदी राज्य में घटीं अलग-अलग सुनियोजित हत्याओं (टारगेट किलिंग) में भी सामने आई थी। 

Edited By: Sunil kumar jha

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट