मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। कांग्रेस ने दल बदल की राजनीति शुरू कर दी है, लेकिन भाजपा से बागी होकर चुनाव लड़ चुके सतीश कैंथ और निर्दलीय पार्षद दलीप शर्मा को कांग्रेस, आप और भाजपा तीनों अपने दल में शामिल करके उम्मीदवार की स्थिति मजबूत करना चाहती हैं। अभी तक कांग्रेस पार्टी ने ही ज्यादातर दूसरे दल के नेताओं को शामिल करवाया है, जबकि भाजपा का उम्मीदवार तय न होने से उन्होंने दूसरे दल के नेताओं को शामिल करने की राजनीति नहीं शुरू की है। जबकि भाजपा के दावेदार दूसरे दलों के नेताओं के संपर्क में हैं, उन्हें मैसेज दिया गया है कि अगर उन्हें टिकट मिली तो वह उन्हें अपने दल में शामिल करवा लेंगे। लेकिन पार्षद कैंथ और शर्मा की मांग सबसे ज्यादा है।

छह साल के लिए निष्कासित हैं कैंथ

कैंथ को भाजपा ने छह साल के लिए पार्टी से निकाल भी दिया है, इसके बावजूद कैंथ को भाजपा के नेता छोड़ना नहीं चाहते हैं। खेर और टंडन गुट के नेताओं ने उन्हें मैसेज दिया गया है कि वह अभी कांग्रेस में शामिल न हों। अगर उनके नेता को टिकट मिल गई, तो उन्हें पार्टी में वापस ले लिया जाएगा। जबकि कांग्रेस के नेता भी कैंथ के संपर्क में हैं। कैंथ को पांच लोगों ने दिए थे क्रास वोट मालूम हो कि कैंथ ने इस साल भाजपा से बगावत करके मेयर का चुनाव राजेश कालिया के खिलाफ लड़ा था। कैंथ को भाजपा के 5 पार्षदों ने वोट क्रास करके दिए थे इसके बावजूद वह जीत नहीं पाए।

खेर के करीबी हैं शर्मा वहीं, निर्दलीय पार्षद दलीप शर्मा
इस समय सांसद किरण खेर के करीबी हैं। अगर खेर को भाजपा टिकट नहीं देती है, तो वह भाजपा में शामिल नहीं होंगे, क्योंकि शर्मा का भाजपा अध्यक्ष संजय टंडन के साथ छत्तीस का आकड़ा है।

कांग्रेस के तीन से चार सीनियर नेता शामिल होंगे भाजपा में
टंडन गुट का दावा है कि अगर संजय टंडन को टिकट मिलती है, तो कांग्रेस के तीन से चार सीनियर नेता भाजपा में आएंगे। टंडन गुट ऐसे नेताओं के संपर्क में है। यह नेता इस समय पवन बंसल के लिए प्रचार कर रहे हैं। उन्होंने और निर्दलीय पार्षद दलीप शर्मा ने अभी किसी भी पार्टी में शामिल होने का निर्णय नहीं लिया है। अगर वे किसी दल में शामिल नहीं भी होते हैं, तो वह शहर के विकास के मुद्दे इसी तरह से उठाते रहेंगे। -सतीश कैंथ, पार्षद

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!