जेएनएन, चंडीगढ़। इंटक प्रदेश अध्यक्ष नसीब जाखड़ और रणजीत मिश्रा को सेक्टर-17 थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। दोनों के खिलाफ पुलिस ने सरकारी ड्यूटी में बाधा डालने सहित विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज किया है। पुलिस दोनों आरोपियों को जिला अदालत में शनिवार दोपहर बाद पेश करेगी। बता दें कि शुक्रवार को सेक्टर 17 बस स्टैंड पर इंटक कार्यकर्ताओं ने नसीब जाखड़ और रणजीत मिश्रा ने नेतृत्व में अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन किया था। इसी के बाद देर रात पुलिस ने दोनों को घर से उठा लिया और कानूनी प्रक्रिया के तहत आधी रात के बाद दोनों की गिरफ्तारी डालकर लॉकअप में बंद कर दिया।

इससे पहले शुक्रवार को राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस (इंटक) ने अपनी मांगों को लेकर सेक्टर-17 बस स्टैंड पार्किंग के पास रोष प्रदर्शन किया था। इंटक ने चंडीगढ़ प्रशासन और शहर की सांसद किरण खेर के खिलाफ हुंकार भरी। इंटक की सभी मांगों में मुख्य मांग थी कि रंजीत मिश्रा को बहाल किया जाए। इस प्रदर्शन में भारी सख्या मे लोग मौजूद थे। इस दौरान इंटक कार्यकर्ताओं ने मांगों को लेकर सांसद किरण खेर के घेराव के लिए कूच किया तो पुलिस को उन्हें रोकने के लिए लाठीचार्ज और पानी की बौछारें करनी पड़ीं। पुलिस की इस कार्रवाई में कई लोग घायल भी हुई।

प्रदर्शन के दौरान इंटक प्रदेश अध्यक्ष नसीब जाखड का कहना था कि सरकार और प्रशासन कर्मचारियों और मजदूरों के मुंह का निवाला छीनने का काम कर रहे है। जाखड ने सरकार और प्रशासन को चेतावनी दी थी कि अगर जल्द ही कर्मचारियों की मांगे नही माननी गई तो 23 अक्तूबर को सभी कर्मचारी और मजदूरों द्वारा चंडीगढ प्रशाशन का पुतला फूंका जाएगा, जिसके बाद पुलिस ने देर रात दोनों को गिरफ्तार कर लिया।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Vikas Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!