चंडीगढ़, [विकास शर्मा]। कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर ने कहर बरपा रही है। हर जगह ऑक्सीजन की कमी से कोरोना पीड़ित व उनके स्वजन परेशान हो रहे हैं। ऐसे में हमें अपने पर्यावरण को बचाना होगा। हम पर्यावरण को कैसे बचा सकते हैं, आने वाले 50 से 100 सालों में हमारे सामने पर्यावरण से जुड़ी किस तरह की चुनौतियां होंगी। यही अध्ययन करने में आजकल मेरा अधिकतर समय बीत रहा है। चंडीगढ़ की इंटरनेशनल शूटर गौरी श्योराण ने बताया कि कोरोना काल के बाद वह पर्यावरण को लेकर खासी चिंतिंत हैं और उन्होंने बताया कि हालात सामान्य होने पर वह अपने स्तर पर पर्यावरण संरक्षण की दिशा में काम करेंगी।

कई इंटरनेशनल टूर्नामेंट जीत चुकी गौरी श्योराण बताती है कि खेल की लय न बिगड़े इसके लिए हमने पिछले साल से ही प्रेक्टिस की व्यवस्था घर पर ही कर ली है। शूटिंग प्रेक्टिस करने के लिए घर पर ही टारगेट सेट कर रखा है। पहले अपने भाई विश्वजीत सिंह के साथ प्रेक्टिस करती थी, लेकिन अब वह अपनी नौकरी में व्यस्त हैं तो अकेले ही प्रेक्टिस करती हूं। उन्होंने बताया कि प्रेक्टिस करने में उन्हें कोई दिक्कत नहीं होती है, बस मौजूदा प्रदर्शन कैसे बेहतर हो इसी दिशा में प्रयास रहता है।

खुद को व्यस्त और फिट रखें

गौरी श्योराण ने बताया कि हमारा सारा परिवार मिलकर योग व मेडिटेशन करता है। कोरोना संक्रमण से बचने का एक ही उपाय है कि आप एक दूसरे से शरीरिक दूरी बनाए रखें। परिवार के साथ समय बताएं। उन्होंने बताया कि वह खुद ऐसा ही कर रही हैं। वह सुबह योग व मेडिटेशन करती है, शाम को शूटिंग की प्रेक्टिस करती हैं और दिन में मां के साथ रसोई में खाना बनाने में उनकी मदद करती हूं। यह खुद को व्यस्त रखने का मेरा सबसे बड़ा जरिया है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021