चंडीगढ़, जेएनएन। बोल्ड इमेज बनाना या होना इंडस्ट्री की जरूरत है। ये ग्लैमर की इंडस्ट्री है। ऐसे में आप इसमें अपनी च्वाइस नहीं रख सकते। आपको किरदार के अनुसार ढलना ही होता है। इसी वजह से मुझे इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि कोई मुझे इंस्टाग्राम में क्या कहता है। एक्ट्रेस कायनात अरोड़ा कुछ इसी अंदाज में बात करती हैं। शुक्रवार को वह प्रेस क्लब-27 में पहुंचीं।  उन्होंने कहा कि पंजाबी फिल्म इंडस्ट्री काफी तेजी से ग्रो कर रही है। ऐसे में मैं भी इस तरफ आकर्षित हुई हूं। मुझे लगता है कि पंजाबी फिल्मों में वैसा कंटेंट अब आ रहा है जो इसे दूर तक लेकर जाएगा। पंजाबी होने के नाते, पंजाबी बोल लेती हूं। मगर पंजाबी इंडस्ट्री में काम करने के लिए पूरी तरह पंजाबी सीख रही हूं।

कपड़े नहीं मानसिकता बदलनी जरूरी है

हैदराबाद में हुए जघन्य अपराध पर कायनात ने कहा कि अफसोस है कि ऐसी वारदात बढ़ रही हैं। इसकी वजह कपड़े नहीं बल्कि खराब मानसिकता होती है जो कपड़े बदलने या पूरे कपड़े पहनने से ठीक नहीं होती। इसके लिए आपको बच्चे की परवरिश अच्छी करनी चाहिए। उसे दूसरों की इज्जत करना सिखाना बहुत जरूरी है। हर बार फिल्म इंडस्ट्री को इस बात को दोषी करार देना गलत है। ये एक प्रोफेशन है जिसके तहत उम्र के हिसाब से फिल्मों को सर्टिफिकेट दिया जाता है। ऐसे में हमें बच्चों पर निगरानी रखनी चाहिए कि वो किस तरह का कंटेंट टीवी पर देखते हैं। साथ ही में इसकी भी हिमायती हूं कि बच्चों के लिए इंटरनेट पर क्या दिखाया जा रहा है, इस पर भी गौर करना जरूरी है।

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!