चंडीगढ़, [सुमेश ठाकुर]। शिक्षा विभाग को नए साल पर नया जिला शिक्षा अधिकारी मिलेगा। इसकी आधिकारिक मंजूरी साल के अंतिम दिन डायरेक्टर स्कूल एजुकेशन रूबिंदरजीत सिंह बराड़ ने दे दी। नए साल की पहली सुबह विभाग में नीना कालिया डीईओ के तौर पर ज्वाइन करेंगी। नीना कालिया वर्तमान में जिला शिक्षा अधिकारी-1 के पद पर कार्यरत हैं। नीना कालिया जिला शिक्षा अधिकारी का पदभार वर्तमान जिला शिक्षा अधिकारी रविंदर कौर की प्रमोशन के बाद संभालेगी।

उल्लेखनीय है कि वर्ष 2020 के अंतिम दिन डिप्टी डायरेक्टर स्कूल एजुकेशन अल्का मेहता सेवानिवृत हुई हैं। जिसकी वजह से डिप्टी डायरेक्टर स्कूल एजुकेशन का पद खाली हो गया और उसी पद पर रविंदर कौर नए साल में ज्वाइन करेंगी। वहीं डिप्टी डीईओ -1 के तौर पर प्रभजोत कौर और डिप्टी डीईओ-2 के तौर पर गवर्नमेंट मॉडल सीनियर सेकेंडरी स्कूल सेक्टर-16 की प्रिंसिपल बिंदू अरोड़ा ज्वाइन करेगी।

अडल्ट एजुकेशन को अधिकारियों का करना होगा इंतजार

शिक्षा विभाग के पास स्कूल और उच्चतर शिक्षा विभाग के साथ अडल्ट एजुकेशन का भी विभाग है। जिसमें बीते चार महीनों से न तो रेगुलर डायरेक्टर हैं और न ही अस्सिटेंट डायरेक्टर। इन पदों पर काम डिप्टी डायरेक्टर स्कूल एजुकेशन-1 अनीता शर्मा और डिप्टी डायरेक्टर स्कूल एजुकेशन-2 सुनील बेदी कार्यकारी अधिकारी के तौर पर देख रहे थे।

एक साथ रिटायर हुए 128 अधिकारी और कर्मचारी

साल 2020 के अंतिम दिन डिप्टी डायरेक्टर स्कूल एजुकेशन अल्का मेहता सहित स्कूलों में कार्यरत प्रिंसिपल, टीचर्स और नॉन टीचिंग स्टाफ के 128 लोग सेवानिवृत हुए हैं। जिसके बाद नए साल की शुरुआत विभाग में एक हजार टीचर्स की कमी के साथ होगी। उल्लेखनीय है कि पंजाब सर्विस रूल्स के शुरू होने से सेवानिवृति की आयु सीमा 58 साल हो गई हैं, जिसके चलते एक साल के भीतर छह सौ से ज्यादा अधिकारी और कर्मचारी सेवानिवृत हुए हैं।