जागरण संवाददाता, चंडीगढ़ : कोरोना विस्फोटक रूप ले चुका है। केसों की संख्या बड़ी तेजी से बढ़ रही है। इसको देखते हुए अब प्रशासन ने बैक स्टेज सभी तैयारी शुरू कर दी हैं। प्रशासक वीपी सिंह बदनौर ने शुक्रवार को इंफोसिस की सराय पीजीआइ को सौंप दी है। जिसको पीजीआइ अतिरिक्त 200 बेड के साथ मरीजों के इलाज में इस्तेमाल करेगा। अब इंफोसिस सराय को इंफेक्टिस डिजीज हॉस्पिटल के तौर पर इस्तेमाल किया जाएगा। अभी तक इसे क्वारंटाइन सेंटर के तौर पर इस्तेमाल किया जा रहा था। शुक्रवार को पंजाब राजभवन में वार रूम मीटिग के दौरान अधिकारियों से चर्चा के बाद यह आदेश प्रशासक वीपी सिंह बदनौर ने दिए। मंगवाई गई 10 हजार एंटीजन किट

प्रशासक वीपी सिंह बदनौर ने टेस्टिंग स्केल को और भी बढ़ाने के आदेश दिए हैं। इसके लिए उन्होंने अतिरिक्त 10 हजार एंटीजन टेस्टिंग किट खरीदने को कहा है। इससे पहले पांच हजार एंटीजन किट मंगवाई गई थी। प्रिसिपल सेक्रेटरी हेल्थ डॉ. अरुण कुमार गुप्ता ने बताया कि कंटेनमेंट जोन में रह रहे लोगों के पहले एंटीजन किट से ही टेस्ट होंगे। उसके बाद इंफेक्शन मिलता है, तो कोविड टेस्ट किए जाएंगे। आज से वीकेंड पर सुखना ओपन

भले ही कोरोना के मामले पहले से ज्यादा तेजी के साथ बढ़ रहे हैं, बावजूद इसके प्रशासन ने सुखना लेक को वीकेंड पर खोल दिया है। अब कोई भी शनिवार और रविवार को भी लेक पहुंचकर सैर कर सकता है। यह सबके लिए खुली रहेगी। वार रूम मीटिग में प्रशासक बदनौर ने लेक खोलने के आदेश जारी किए। हालांकि उन्होंने पुलिस अथॉरिटी को मास्क पहनने और फिजिकल डिस्टेंसिग के मामले में सख्ती बरतने के सख्त आदेश दिए हैं। लापरवाही बरतने पर जरा भी ढील न बरती जाए।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!