डेराबस्सी (मोहाली), जेएनएन। करतारपुर कॉरिडोर को लेकर डेराबस्सी हलके में लगे सिद्धू-इमरान के होर्डिंग्स अगले ही दिन रविवार को फाड़ दिए गए हैं। इन होर्डिंग्स में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और नवजोत सिद्धू को कॉरिडोर खोलने का श्रेय देते हुए इन्हें 'असली हीरो' दर्शाया गया था। चूंकि इसमें भारत के पीएम व पंजाब के सीएम का फोटो तो एकतरफ, उनका जिक्र तक नहीं था। इसलिए अकाली-भाजपा के अलावा कांग्रेस समर्थकों पर होर्डिंग्स फाड़ने का शक जताया जा रहा है। मामला नोटिस में आने पर पुलिस इसकी जांच कर रही है।

गुरु नानक देव के 550वें प्रकाशोत्सव पर करतारपुर कॉरिडोर खोला गया है। इसके शुभारंभ में जहां भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह के अलावा केंद्र सरकार व प्रदेश सरकार के नुमाइंदे मौजूद रहे। दूसरी तरफ कांग्रेस एमएलए नवजोत सिंह सिद्धू भी अलग समागम में मौजूद थे। सिद्धू समर्थक एक शख्स गुरसेवक सिंह कारकौर ने पीएम, सीएम सहित अन्य नेताओं का जिक्र किए बिना होर्डिंग्स तैयार कर उन्हें डेराबस्सी, जीरकपुर व लालडू में लगवा दिया। शनिवार को लगे उक्त होर्डिंग्स अगले ही दिन रविवार को फाड़ डाले गए। ये पोस्टर इस्सापुर रेलवे फाटक, जीरकपुर में पटियाला चौक और डेराबस्सी पुलिस स्टेशन के बाहर लगे थे। परंतु पुलिस को नहीं पता किसने इन्हें फाड़ा।

यह सब लिखा है होर्डिंग्स पर

होर्डिंग्स पर केवल इमरान खान और नवजोत सिद्धू का फोटो है जिसके नीचे यही पैगाम लिखा है कि उक्त दोनों नेताओं ने करतारपुर कॉरिडोर खुलवाने का काम किया है। इसलिए इन्हें असली हीरो करार देते हुए इनका धन्यवाद किया जाता है।

पता नहीं किसने फाडे़ : गुरसेवक

गुरसेवक ने बताया कि उन्होंने इमरान व सिद्धू को असली हीरो इसलिए बताया है कि कॉरिडोर खोलकर उन्होंने ही नफरत के बजाय शांति का पैगाम दिया है। ऐसे करीब एक दर्जन होर्डिग्स हलके में लगवाए गए थे। वे पता लगाकर होर्डिंग्स फाड़ने वालों के खिलाफ शिकायत देंगे।

कार्रवाई करेंगे : गुरवंत

एसएचओ गुरवंत सिंह का कहना है कि न उन्हें ऐसे होर्डिग्स का पता है, न ही किसी की शिकायत इस बारे आई है। शिकायत मिलने पर वे पड़ताल करते हुए बनती कार्रवाई करेंगे।

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!