जेएनएन, चंडीगढ़। केंद्रीय मंत्री व अकाली नेत्री हरसिमरत कौर बादल तथा नरेश गुजराल ने शुक्रवार को केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात कर कांग्रेस नेता जगदीश टाइटलर की गिरफ्तारी की मांग की। हरसिमरत ने कहा कि 1984 के सिख विरोधी दंगों को लेकर कुछ दिन पहले वायरल वीडियो को लेकर टाइटलर की गिरफ्तारी की जानी चाहिए।

हरसिमरत ने कहा कि टाइटलर के स्टिंग के पांच वीडियो सामने आने के बाद उन पर दिल्ली पुलिस को मामला दर्ज करना चाहिए, क्योंकि यह सबसे बड़ा सबूत है। इन सबूतों के बाद 84 के सिख विरोधी दंगों में टाइटलर की संलिप्तता को लेकर अब कोई संशय नहीं रह गया है।

उन्होंने कहा कि हजारों की संख्या में सिखों का नरसंहार कर दिया गया था। सभी को मालूम है कि इसके पीछे कौन दोषी है लेकिन किसी ने अब तक उन्हें सजा नहीं सुनाई। टाइटलर ने स्वीकार किया है कि वह इस घटना के पीछे शामिल थे। उन्हें जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाना चाहिए।

बता दें, इंदिरा गांधी की हत्या के बाद 1984 में हुए सिख विरोधी दंगों में हजारों की संख्या में सिख मारे गए थे। याद दिला दें कि इंदिरा गांधी की हत्या उनके ही सिख अंगरक्षकों ने की थी। इंदिरा की हत्या के बाद पूरे भारत में दंगे की आग भड़की थी। इन दंगों में 3000 से ज्यादा लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी थी, साथ ही उनकी संपत्ति को भी नुकसान पहुंचाया गया था। 

2000 से ज्यादा लोग सिर्फ दिल्ली में ही मारे गए थे। नरंसहार के बाद सीबीआइ ने कहा था कि ये दंगे राजीव गांधी के नेतृ्त्व वाली कांग्रेस सरकार और दिल्ली पुलिस ने मिल कर कराए हैं। उस समय तत्कालीन पीएम राजीव गांधी का एक बयान भी काफी सुर्खियों में था जिसमें उन्होंने कहा था कि जब एक बड़ा पेड़ गिरता है, तब पृथ्वी भी हिलती है।

यह भी पढ़ेंः ..तो गुजरात में हुई थी इंसान की उत्पत्ति, 55 मिलियन साल पुराना राज खुला !

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!