विकास शर्मा, चंडीगढ़ : रेलवे बोर्ड ने कालका रेलवे स्टेशन से हावड़ा के लिए चलने वाली कालका मेल को चलाने की मंजूरी दे दी है। कालका मेल के अतिरिक्त स्पेशल नौ अन्य ट्रेनों को रेलवे बोर्ड ने चलाने की अनुमति दी है। बोर्ड ने अभी इस ट्रेन का शेड्यूल जारी नहीं किया है। अंबाला मंडल के जनसंपर्क अधिकारी सुमीर शर्मा ने बताया कि मंडल की तरफ से इस ट्रेन को चलाने का प्रस्ताव रेलवे बोर्ड को भेजा गया था, जिसे रेलवे बोर्ड ने मंजूरी दी है। उम्मीद है कि अगले हफ्ते कालका मेल इस रूट पर चलने लगेगी। लंबी दूरी की यह ट्रेन यात्री सुविधा की दृष्टि से तो महत्वपूर्ण है ही इसके साथ यह ट्रेन पार्सल ढुलाई के लिए भी खास महत्वपूर्ण है। इस ट्रेन के साथ खासतौर पर तीन से चार पार्सल कोच लगते हैं। जिससे रेलवे को अतिरिक्त कमाई होती है। कालका मेल का है 1743 किलोमीटर लंबा सफर

कालका से हावड़ा रेलवे स्टेशन की दूरी 1743 किलोमीटर की है। यह ट्रेन हरियाणा, चंडीगढ़, पंजाब, उत्तर प्रदेश और बिहार से होती हुई पश्चिम बंगाल के हावड़ा रेलवे स्टेशन पर पहुंचती है। यह ट्रेन अपने सफर में इन राज्यों के 38 रेलवे स्टेशन से होकर जाती है। इस ट्रेन के रूट में चंडीगढ़, अंबाला, कुरुक्षेत्र, करनाल, पानीपत, सोनीपत, दिल्ली, गाजियाबाद, अलीगढ़, हाथरस, फिरोजाबाद, कानपुर, फतेहबाद, इलाहाबाद, सासाराम, हजारीबाग, दुर्गापुर, बर्धमान और हावड़ा जंक्शन रेलवे स्टेशन आते हैं। सबसे ज्यादा पार्सल ढुलाई कालका मेल में

लंबी दूरी की यह ट्रेन यात्री सुविधा की ²ष्टि से तो महत्वपूर्ण है ही इसके साथ यह ट्रेन पार्सल ढुलाई के लिए भी खास महत्वपूर्ण है। इस ट्रेन के साथ खासतौर पर तीन से चार पार्सल कोच लगते हैं। जिससे रेलवे को अतिरिक्त कमाई होती है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप