चंडीगढ़, जेएनएन। सेक्टर-17 बस स्टैंड की पार्किंग (थाने के सामने) में दिनदहाड़े गोली मारकर 26 वर्षीय तेजिंदर सिंह की हत्या करने के मामले में पुलिस ने बॉक्सर गैंग के 19 वर्षीय उपकार को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपित ने तेजिंदर की रेकी कर गैंग सरगना विकास मोर को सूचना दी थी। आरोपित के चंडीगढ़ आने की गुप्त सूचना पर एसएसपी के निर्देशानुसार एसपी सिटी विनीत कुमार के नेतृत्व में डीएसपी कृष्ण कुमार, सेक्टर-17 थाना प्रभारी जसपाल, सेक्टर-22 इंचार्ज सतनाम, एसआइ नवीन की दो टीमों ने उसे सेक्टर-16 (रोज गार्डन के बैक साइड) से गिरफ्तार कर लिया।

तीन दिन के रिमांड में आरोपित से .315 बोर की पिस्टल, एक कंट्री मेड वेपन .12 बोर, तीन कारतूस (.315बोर) और 10 कारतूस (.12बोर) बरामद हुए हैं। क्राइम ब्रांच ने 16 सितंबर को मामले में मनीमाजरा से हरियाणा के जींद के नरवाना निवासी गैंगस्टर विकास मोर उर्फ बॉक्सर, गुरमीत सिंह और अमित उर्फ अमित ग्रोवर को गिरफ्तार कर एक .32 बोर देसी पिस्टल और तीन कारतूस बरामद किया था। तीनों आरोपितों के खिलाफ हरियाणा के जिला जींद में भी हत्या, हत्या की कोशिश, आ‌र्म्स एक्ट सहित विभिन्न धाराओं में केस दर्ज हैं।

भाई की हत्या के बदले की थी वारदात

बॉक्सर गैंग का सरगना विकास मोर उर्फ बॉक्सर के भाई मोहित मोर की नरवाना में गैंगवार के चलते अप्रैल महीने में हत्या की गई थी। इस केस में आरोपित मनीष और जसवंत की 14 सितंबर को गोली मारकर हत्या करने के बाद आरोपित 26 वर्षीय ते¨जदर उर्फ माली को मारने की प्लानिंग बनाई। उन्होंने अपने ग्रुप मेंबर उपकार द्वारा रेकी के बाद मिली सूचना पर चंडीगढ़ बस स्टैंड पहुंच नजदीक से तीन गोलियां मार हत्या कर दी। जबकि ते¨जदर के साथ मौजूद उसका साथी 24 वर्षीय संदीप भी एक गोली लगने से घायल हो गया था। जिसके बाद हत्याकांड में शामिल पांचों आरोपित ऑटो हायर कर फरार हो गए थे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!