जागरण संवाददाता, चंडीगढ़ : चंडीगढ़ प्रशासन ने क‌र्फ्यू में दी जाने वाली ढील को कम कर दिया है। अब शहर में सेक्टरों की मार्केट सुबह 11 से तीन बजे तक ही खुलेंगी। इससे पहले सेक्टरों की मार्केट सुबह 10 से छह बजे तक खुलती थी। अब ग्रॉशरी, किराना, दूध और फल, सब्जी की दुकान खुलने की समयावधि को चार घंटे कम कर दिया गया है। यह निर्णय रविवार को इस मामले में आए पंजाब एंड हरियाणा हाई कोर्ट के फैसले से जोड़कर देखा जा रहा है। लोग खरीदारी करने के नाम पर ज्यादा देर बाहर न रहकर घरों में रहें, इसलिए यह फैसला लिया गया है। हालांकि समय कम होने से अब मार्केट में भीड़ ज्यादा हो सकती है। सुबह के समय में एक घंटे तो शाम को तीन घंटे की कटौती की गई है। यह देखने में आया था कि शाम को लोग ज्यादा संख्या में घरों से बाहर निकलते थे। कुछ लोग तो बेवजह भी मार्केट पहुंचने लगे थे लेकिन अब समय को कम कर क‌र्फ्यू के दौरान फिजिकल डिस्टेंसिग को ज्यादा फॉलो कराने पर फोकस होगा। खरीदारी का समय घटाने का फैसला प्रशासक वीपी सिंह बदनौर की अध्यक्षता में वरिष्ठ अधिकारियों की मीटिग में लिया गया। इससे पहले कैबिनेट सेक्रेटरी ने भी प्रशासन के अधिकारियों से वीडियो काफ्रेंसिग कर तैयारियों पर अपडेट ली थी। मकान मालिक रेंट के लिए नहीं कर सकते जबरदस्ती

क‌र्फ्यू के दौरान हजारों प्रवासी लोगों के पलायन ने केंद्र सरकार से लेकर सभी राज्य सरकारों की नींद उड़ा दी थी। इसको देखते हुए अब यूटी प्रशासन ने भी ऐसे लोगों के हित में कड़ा फैसला लिया है। एडवाइजर मनोज कुमार परिदा ने कहा कि शहर में किराये पर रहने वाले लोगों से किराये के लिए जबरदस्ती नहीं की जा सकती। इसके लिए प्रशासन ने आधिकारिक आदेश जारी कर दिए है। उन्होंने मकान मालिकों से आग्रह किया है कि वह इस माह का किराया प्रवासी लोगों से न मांगें। सबसे पहले नोएडा के डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट ने देश में सबसे पहले इस तरह के आदेश जारी किए थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!