मोहाली [संदीप कुमार]। लोहड़ी के दिन मंगलवार को फेज-6 सिविल अस्पताल की जच्चा-बच्चा बिल्डिंग में नवजन्मी बच्चियों व उनकी मां को गर्म कपड़े और कंबल के तोहफे देने का प्रोग्राम पंजाब सरकार की ओर से से रखा गया था। जहां चीफ गेस्ट के तौर पर पंजाब के हेल्थ मिनिस्टर बलबीर सिंह सिद्धू शामिल हुए। लेकिन अस्पताल प्रबंधकों की लापरवाही देखिए जिन्होंने मंत्री सिद्धू की खातिरदारी के लिए मेडिसन रूम (इग्नू प्रोग्राम स्टडी सेंटर) में ही चाय-पकौड़े तल दिए। जबकि उसके ठीक सामने वाले कमरे में उन महिलाओं को कंबल बांटे गए जिन्होंने हाल ही में बच्चों को जन्म दिया। हैरानी की बात तो यह है कि जहां डॉक्टर नवजन्मे बच्चे के पास मास्क और गाउन के बिना किसी को जाने नहीं देते, वहां पूरे अस्पताल स्टाफ की मौजूदगी में मात्र 15 मीटर दूर कमरे में पकवान बनाए जा रहे थे।

बच्चों को होता है सबसे जल्दी इन्फेक्शन

दरअसल जच्चा-बच्चा वार्ड के फ‌र्स्ट फ्लोर पर निकू वार्ड से थोड़ी दूर एक हॉल में 'धीयां दी लोहड़ी' प्रोग्राम रखा गया था। इसी हॉल के ठीक सामने मेडिसन रूम है जहां बड़े सिलेंडर और चूल्हे की आंच पर चाय-पकौड़े बनाए गए। जिन्हें हॉल में आए हुए मुख्य मेहमानों में परोसा गया। इसी हॉल में उन महिलाओं को बुलाया गया था जिन्होंने नवजन्मे बच्चों को जन्म दिया था। छोटे बच्चों को गोद में लिए महिलाओं को कंबल बांटे गए। ऐसे में अगर किसी तरह की आग या सिलेंडर फटने जैसी घटना घट जाती तो बहुत बड़ा नुकसान हो सकता था। इसी तरह बच्चों में इन्फेक्शन फैलने का डर भी ज्यादा रहता है।

नवजन्मे बच्चों और उनकी मां को गर्म कपड़े व कंबल वितरित करते सेहत मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू।

पंजाब हेल्थ सिस्टम के बड़े अधिकारियों ने भी नहीं दिया ध्यान

सिविल अस्पताल ऐसी बहुत सी जगह हैं जहां टैंट लगाकर या किसी और जगह पर पकवान बनाए जा सकते हैं। लेकिन हैरानी वाली बात यह है कि प्रोग्राम में पंजाब हेल्थ सिस्टम कारपोरेशन के मैनेजिंग डायरेक्टर मनवेश सिंह सिद्धू, सेहत मंत्री के ओएसडी बलविंदर सिंह, सेहत विभाग के डायरेक्टर डॉ. अवनीत कौर, डायरेक्टर परिवार भलाई डॉ. रीटा भारद्वाज, डॉ. निधि, एसएमओ डॉ. अरीत कौर मौजूद थीं। इनमें से किसी ने इस ओर ध्यान ही नहीं दिया।

51 लड़कियों और 16 लड़कों को बांटे तोहफ

हेल्थ मिनिस्टर बलबीर सिद्धू ने नवजन्मे बच्चों और उनकी मां को गर्म कपड़े व कंबल के तोहफे देकर लोहड़ी की बधाई दी और जच्चा-बच्चा की सेहत के बारे में भी पूछा। कुल 51 लड़कियों व 16 लड़कों को तोहफे दिए गए। मालूम हो कि जिले की लगभग सभी सरकारी सेहत संस्थाओं व हेल्थ और वेलनेस केंद्रों में मंगलवार को समागम करवाए गए।

मेडिसन रूम में कोई खाने का सामान नहीं बनाया गया बल्कि बाहर से बना बनाया फूड लाया गया था। वहां तो केवल गर्म किया गया है। वो कमरा दूसरी तरफ है, वहां से इन्फेक्शन नहीं फैलता। हमने वैसे वहां कुछ बनाया नहीं है। वह तो साइड रूम है।

-मंजीत सिंह, सिविल सर्जन, मोहाली

मामला मेरे ध्यान में नहीं है कि खाने का सामान को वहां बनाया गया है। अगर ऐसी बात है तो इसकी जांच करवाई जाएगी।

-बलबीर सिंह सिद्धू, हेल्थ मिनिस्टर, पंजाब

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!