चंडीगढ़, जेएनएन। पंजाब यूनिवर्सिटी की जनरल बॉडी सीनेट चुनाव के लिए सभी ने कमर कस ली है। पीयू के इतिहास में सीनेट का बहुत महत्व है। सीनेट चुनाव के लिए अब तक करीब 5000 पूर्व ग्रेजुएट स्टूडेंट्स ने अपने फॉर्म जमा कर रजिस्ट्रेशन करवाया है। चुनाव में वोट डालने का अधिकार सिर्फ पीयू से ग्रेजुएट किए पूर्व छात्रों को ही है।

इनमें तकरीबन 25 पूर्व स्टूडेंट ऐसे हैं जो विदेशों में बसे हुए हैं और वोट करने के लिए स्पेशल वहां से कैंपस में आएंगे। इस वर्ष आयोजित होने वाले सीनेट चुनाव में बड़े फेरबदल की उम्मीद की जा रही है। हालाकि सीनियर चुनाव के लिए अभी तक केवल 6 नामों की ही घोषणा हो पाई है। आने वाले समय में बाकी नाम भी सामने आ जाएंगे।

रजिस्ट्रेशन बढ़ने की है उम्मीद

सूत्रों के अनुसार पूर्व ग्रेजुएट स्टूडेंट्स अपने रजिस्ट्रेशन फॉर्म्स को कोरियर, डाक और ईमेल के द्वारा भेज रहे हैं। वहीं उम्मीद जताई जा रही है कि इस बार सीनेट चुनाव के लिए करीब एक लाख स्टूडेंट्स अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं।

6 माह बाद होंगे चुनाव

सीनेट चुनाव इसी वर्ष सितंबर माह में आयोजित होंगे। इसके लिए तैयारियों का दौर भी शुरू हो चुका है। कई वर्तमान सीनेट सदस्य इस बार भी मैदान में दिखाई देने वाले हैं। वहीं दूसरी ओर कुछ नए नामों के भी सामने आने की आशंका जताई जा रही है।

स्टूडेंट्स से जुड़े मुद्दे रहेंगे प्रमुख

पीयू कैंपस की ज्यादातर स्टूडेंट्स को सीनेट और सिंडीकेट बैठकों के बारे में जानकारी नहीं है। वहीं कई स्टूडेंट्स का मानना है कि यह दोनों बैठके केवल खानापूर्ति के लिए ही की जाती है। इनमें स्टूडेंट्स को दरकिनार कर एक दूसरे को नीचा दिखाने की होड़ लगी रहती है। इस बात को ध्यान में रखते हुए कई छात्र संगठन स्टूडेंट्स से जुड़े मुद्दों को प्रमुखता से उठाने कि तैयारियां कर रहे है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Vipin Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!