जेएनएन, चंडीगढ़/ऑकलैंड। पंजाबियों ने एक बार फिर विदेश में अपना परचम लहराया है। न्यूजीलैंड के 52वें आम चुनावों दो पंजाबियों समेत पांच भारतीयों ने संसद में दस्तक दी है। आम चुनाव में सरदार कंवलजीत सिंह बख्शी एकमात्र ऐसे सिख सांसद बने हैं जिन्होंने चौथी बार अपनी जीत का परचम फहराया है।

2001 में भारत से न्यूजीलैंड आए सरदार बख्शी 2008 से लगातार सांसद बनते आ रहे हैं और 2015 से लेकर 2017 तक वह न्यूजीलैंड की कानून व्यवस्था कमेटी के चेयरमैन भी रहे। इसी तरह 1995 में जिला होशियारपुर से न्यूजीलैंड गईं डाक्टर परमजीत कौर परमार दूसरी बार संसद में पहुंची हैं। न्यूजीलैंड में पीएचडी करने बाद बतौर विज्ञानी काम करने वाली डाक्टर परमार न्यूजीलैंड सरकार में ही फैमिली कमिश्नर भी रह चुकी हैं।

यह भी पढ़ें: मोहाली में वरिष्ठ पत्रकार व 88 साल की मां की निर्मम हत्या

भारतीय मूल की प्रियंका राधाकृष्णन ने भी लेबर पार्टी की टिकट पर चुनाव में बाजी मारी है। वह पहली बार जीत कर न्यूजीलैंड की संसद में पहुंची हैं। उल्लेखनीय है कि 11 सिंतबर से चल रहे चुनाव के शनिवार को समाप्त होने के बाद जो रूझान आए हैं उनके अनुसार वर्तमान में न्यूजीलैंड की बिल इंग्लिश सरकार दोबारा फिर से सत्ता मे काबिज होते हुए दिखाई दे रही है।

अभी तक के रूझान  अनुसार बिल इंग्लिश की नेशनल पार्टी 58 सीटों पर काबिज हो चुकी है तथा सत्ता पर काबिज होने के लिए उसे 61 सीटें चाहिए। नेशनल पार्टी के 41 उम्मीदवार जहां लोगों ने चुनकर भेजे हैं वहीं पर 17 उम्मीदवार पार्टी वोट से संसद में पहुंचे हैं।  नेशनल पार्टी ने पिछली बार भी 58 सीटें पर कब्जा जमाया था जिनमें 39 चुनकर आए थे जबकि 19 पार्टी वोट से सांसद बने थे।

यह भी पढ़ें: एनआइटीटीटीआर ने नौकरी के ऑनलाइन फार्म में ट्रासजेंडर्स की जगह लिखा 'गे'

विपक्षी लेबर पार्टी ने 35.8 प्रतिशत वोटों के साथ 41 सदस्यों के लिए संसद में जगह बनाई है। न्यूजीलैंड फस्र्ट ने 7.5 प्रतिशत मतों से 9 व ग्र्रीन पार्टी ने 7 सदस्यों को संसद में भेजा है। जबकि एक्ट पार्टी के एक सदस्य ने जीत हासिल की है। आम चुनाव में 17 दलों ने अपने पांच सौ उम्मीदवारों के मैदान में उतारा था।

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!