चंडीगढ़, [कैलाश नाथ]। कांग्रेस में टिकटों को लेकर मंथन अब चरम पर पहुंच गया है। स्क्रीनिंग कमेटी ने 70 विधानसभा सीटों पर सिंगल उम्मीदवारों की लिस्ट सोनिया गांधी को सौंप दी है। टिकटों का फैसला अब सेंट्रल इलेक्शन कमेटी की बैठक में लिया जाएगा। वहीं, बाकी के सिटों पर एक राय बनाने के लिए स्क्रीनिंग कमेटी के चेयरमैन अजय माकन ने देर शाम को पुन: बैठक की। इसमें हाट सीटों को छोड़ कर बाकी की उन सीटों पर विचार किया गया जहां पर दो या दो से अधिक मजबूत उम्मीदवार है। स्क्रीनिंग कमेटी चाहती थी कि हाट सीटों को छोड़ कर बाकी सभी पर एक राय बना ली जाए।

पहली लिस्ट में तीन विधायकों की टिकट कटनी तय, मालविका ही होंगी मोगा से कांग्रेस की उम्मीदवार

जानकारी के अनुसार स्क्रीनिंग कमेटी ने जो 70 नामों वाली लिस्ट सोनिया गांधी को सौंपी है उसमें तीन विधायकों की टिकट कटनी तय है। जैसा की उम्मीद थी कि कांग्रेस बड़े पैमाने पर विधायकों के टिकट काट सकती है लेकिन अब तस्वीर बदलती नजर आ रही है।

भट्टी की जगह मलोट से आप छोड़ कर कांग्रेस आई रुपिंदर कौर रूबी हो सकती है उम्मीदवार

पहली लिस्ट में मलोट से विधायक व डिप्टी स्पीकर अजायब सिंह भट्टी की टिकट कटनी तय मानी जा रही है। पार्टी आम आदमी पार्टी छोड़ कर कांग्रेस में आई बठिंडा देहाती की विधायक रुपिंदर कौर रूबी को मलोट से टिकट दे सकती है। जबकि मोगा से डा. हरजोत कमल की टिकट कटनी तय है। पार्टी यहां से मालविका सूद को टिकट देने का मन बना चुकी है।

जानकारी के अनुसार सुजानपुर में पूर्व कैबिनेट मंत्री रघुनाथ सहाय पुरी के बेटे नरेश पुरी को लेकर जो पेंच फंसे थे वह निकल गए है। अब कांग्रेस नरेश पुरी को ही टिकट दे रही है। इसी प्रकार से जालंधर वेस्ट से विधायक सुशील रिंकू ही पार्टी के उम्मीदवार हो सकते है। इस सीट पर मोहिंदर सिंह केपी दावा ठोक रहे थे। लेकिन बदले हालात में अब केपी आदमपुर सीट से टिकट मांग रहे है।

जानकारी के अनुसार पूर्व मुख्यमंत्री राजिंदर कौर भट्ठल का नाम लहरा सीट से ही गया है लेकिन भट्ठल अपने बेटे राहुल इंदर भट्ठल के लिए टिकट मांग रही है। इसी प्रकार पटियाला देहाती से विधायक व कैबिनेट मंत्री ब्रह्म मोहिंद्रा का नाम भी फाइनल है लेकिन वह अपने बेटे के लिए टिकट मांग रहे है। इन दोनों ही सीटों पर पार्टी बेटों को एजडस्ट कर सकती है।

जनकारी के अनुसार गणशंकर सीट को लेकर मामला फंसा हुआ है। मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और नवजोत सिंह सिद्धू मिनीशा मेहता को टिकट दिलवाना चाहते हैं, जबकि सुनील जाखड़ यूथ कांग्रेस के पूर्व प्रदेश प्रधान अमरप्रीत सिंह लाली को लेकर अड़े हुए है। इस लिए इस सीट को पैंडिग डाल दिया गया है। सूत्र बताते हैं कि पार्टी विधायकों को लेकर बड़े स्तर पर कोई बदलाव नहीं कर रही है। विजय इंदर सिंगला भी संगरूर, मनप्रीत बादल बठिंडा, अमरिंदर सिंह राजा वडिंग गिद्दड़बाहा से ही चुनाव लड़ेंगे। हालांकि हाट सीट जलालाबाद जहां से सुखबीर बादल चुनाव लड़ रहे है, पटियाला शहरी जहां से कैप्टन अमरिंदर सिंह के चुनाव लड़ना है, मजीठा जैसी सीटों पर पार्टी अभी अपने पत्ते नहीं खोलना चाहती है।

बल्लुआणा से नत्थु राम का टिकट कटना लगभग फाइनल है। इस सीट से पार्टी महिला उम्मीदवार राजिंदर कौर को उम्मीदवार बना सकती है। राजिंदर कौर पिछली बार भी टिकट की दावेदार थी। इसी प्रकार अटारी से तरसेम डीसी का टिकट कटना भी लगभग तय है। खडूर साहिब से रमनजीत सिंह सिक्की की टिकट अटकी हुई है। क्योंकि खडूर साहिब से सांसद जसबीर डिंपा इस सीट से दावेदारी पेश कर रहे है।

प्रताप सिंह बाजवा होंगे कादियां से उम्मीदवार

कांग्रेस के चुनाव घोषणा पत्र कमेटी के चेयरमैन व राज्य सभा सदस्य प्रताप सिंह बाजवा विधान सभा चुनाव में उतरने जा रहे है। उनकी टिकट भी कादियां से तय मानी जा रही है। बाजवा ने तो प्रचार भी करना शुरू कर दिया है। हालांकि पार्टी अभी गुरहरसहाय, फाजिल्का, जलालाबाद, पटियाला शहरी, लंबी जैसी हाट सीटों पर कोई फैसला नहीं लेेने जा रही है।

Edited By: Kamlesh Bhatt