जेएनएन, चंडीगढ़। नगर निगम के मेयर राजेश कालिया ने भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा को दिल्ली फाइनेंस कमीशन की चौथी सिफारिशों को चंडीगढ़ के लिए लागू करवाने की मांग की है। मेयर कालिया ने जगत प्रकाश नड्डा को कहा है कि उसके अनुसार ही उन्हें ग्रांट इन एड का शेयर मिलना चाहिए। मालूम हो कि इस समय नगर निगम की वित्तीय हालत खस्ता है। इसी कारण मेयर ने नड्डा से मदद मांगी है।

यह बात मेयर राजेश कालिया ने सोमवार को जेपी नड्डा के चंडीगढ़ आगमन पर रखी है। नड्डा ने कहा कि इस मामले में वह अलग से उनके साथ मीटिंग करेंगे। मालूम हो कि दिल्ली फाइनेंस कमीशन की चौथी सिफारिश के अनुसार अगर चंडीगढ़ नगर निगम को ग्रांट मिल जाए तो वित्तीय संकट दूर हो जाएगा। इस हिसाब से नगर निगम को हर साल एक हजार करोड़ रुपये की ग्रांट मिलेगी। जबकि इस साल प्रशासन की ओर से नगर निगम को सिर्फ 375 करोड़ रुपये की ग्रांट इन एड दी गई है।

नए काम शुरू करने काे नहीं मिल रहा फंड

नगर निगम कमिश्नर पिछले माह कह चुके हैं कि नए काम शुरू करने के लिए उनके पास फंड नहीं है। ऐसे में शहर की सड़कों की हालत काफी खस्ता है फंड न होने के कारण शहरवासियों को अब गड्ढों वाली सड़क में से ही गुजरना होगा। प्रशासक भी कर चुके हैं सिफारिश पंजाब के गवर्नर एवं यूटी प्रशासक वीपी सिंह बदनौर भी चाहते हैं कि नगर निगम को दिल्ली फाइनेंस कमीशन की चौथी सिफारिश के अनुसार ग्रांट मिलनी चाहिए। गवर्नर ने केंद्र सरकार को इन सिफारिशों को चंडीगढ़ के लिए लागू करने की मंजूरी देने के लिए लिखित में लिखा है। ऐसे में अगर केंद्र सरकार इसकी मंजूरी दे देता है तो चंडीगढ़ को वित्तीय सत्र के लिए 1074 करोड़ रुपये की ग्रांट मिलनी शुरू हो जाएगी। 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!