राजेश ढल्ल, चंडीगढ़ : डिस्काउंट के साथ प्रॉपर्टी और हाउस टैक्स जमा करवाने का मौका खत्म हो चुका है। हाउस और प्रॉपर्टी टैक्स जमा करवाने की सेल्फ असेसमेंट स्कीम का समय समाप्त हो गया है। शुक्रवार को अंतिम दिन स्कीम के तहत छूट लेकर टैक्स जमा करवाने की होड़ लगी रही। ऐसे में अब एक अगस्त से हाउस और प्रॉपर्टी टैक्स जुर्माने और ब्याज के साथ जमा करवाना होगा। नगर निगम के अनुसार 25 फीसद जुर्माना और 12 फीसद ब्याज के साथ भुगतान करना होगा और जो इस समय सेल्फ असेसमेंट स्कीम के तहत छूट मिल रही थी, अब नहीं मिलेगी। 31 जुलाई तक सेल्फ असेसमेंट स्कीम के तहत प्रॉपर्टी टैक्स जमा करवाने पर 10 फीसद और हाउस टैक्स जमा करवाने पर 20 फीसद की छूट मिल रही थी।

अब नोटिस भेजने की कार्रवाई होगी शुरू

इसके साथ ही अब नगर निगम उन सभी को नोटिस जारी करेगा, जिन्होंने अपनी दुकान और मकान का प्रॉपर्टी और हाउस टैक्स जमा नहीं करवाया है। नोटिस भेजने की कार्रवाई इसी माह से शुरू हो जाएगी। नगर निगम के अनुसार शहर में इस समय एक लाख छह हजार रेजिडेंशियल और कमर्शियल प्रॉपर्टी हैं, जोकि हाउस और प्रॉपर्टी के दायरे में आते हैं। जिनमें 70 हजार रिहायशी इमारतें हैं। पहली बार कोरोना के कारण सेल्फ असेसमेंट स्कीम 31 जुलाई तक चली है, जबकि पहले हर साल अप्रैल और मई दो माह के लिए ही यह स्कीम चलती थी। 55 गज से ऊपर के मकान पर लगता है हाउस टैक्स

नगर निगम के अनुसार जो लोग ई-संपर्क सेंटर नहीं आना चाहते, वे घर बैठकर ऑनलाइन भी भुगतान कर सकते हैं। शहर में 55 गज से ऊपर के मकान में रहने वालों पर हाउस टैक्स लगता है। सरकारी मकान में रहने वालों के लिए राहत है। प्रशासन ने यहां से हाउस टैक्स के बजाय सर्विस चार्ज लगाने का निर्णय लिया है। लेकिन इसका भुगतान प्रशासन ही नगर निगम को करेगा, क्योकि शहर के सरकारी मकान प्रशासन के अंतर्गत ही हैं। ऐसे में इन घरों में रहने वाले कर्मचारियों पर इसका बोझ नहीं पड़ता है। 38.89 करोड़ इकट्ठा कर चुका है नगर निगम

31 जुलाई तक सेल्फ असेसमेंट स्कीम के तहत नगर निगम प्रॉपर्टी और हाउस टैक्स से 38.89 करोड़ रुपये की राशि इकट्ठी कर चुका है। नगर निगम के अनुसार 76 हजार से ज्यादा लोग अपनी इमारतों का टैक्स जमा करवा चुके हैं। टैक्स ब्रांच के अनुसार नगर निगम को 31 अगस्त तक कमर्शियल प्रॉपर्टी से 27 करोड़ 40 लाख और घरों से 10 करोड़  71 लाख रुपये का  हाउस टैक्स  इकट्ठा  हुआ है । शुक्रवार को  अंतिम दिन  14414 लोगों ने  अपना प्रॉपर्टी टैक्स जमा करवाया। जबकि 498 लोगों ने  हाउस टैक्स जमा करवाया है। नगर निगम ने इस वित्तीय सत्र में 53 करोड़ रुपये की कमाई करने का टारगेट रखा है। जबकि पिछले सत्र में नगर निगम ने 48 करोड़ रुपये टैक्स से इकट्ठे किए थे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!