जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। जुगाड़ कहीं काम नहीं करता है, आपको खुद को साबित करना पड़ता है, तभी भारतीय क्रिकेट टीम में जगह मिलती है। यह कहना है पूर्व क्रिकेटर चेतन शर्मा का। सेक्टर-16 के क्रिकेट स्टेडियम में आयोजित एक मैच में हिस्सा लेने के लिए शहर में पहुंचे चेतन शर्मा ने कहा कि अकसर युवा कहते हैं कि क्रिकेट में लॉबिंग होती है, जुगाड़ चलता और उन्हीं लोगों को टीम में जगह मिलती है, जिनका गॉड फादर होता है, लेकिन ऐसा कुछ नहीं होता है। धौनी, विराट कोहली, शुभमन गिल जैसे सैकड़ों खिलाड़ी ऐसे हैं, जिन्होंने मेहनत की है और टीम इंडिया में अपनी जगह बनाई।

पाकिस्तान के साथ खेलने का सवाल ही नहीं
पाकिस्तान के साथ क्रिकेट खेलने के सवाल पर चेतन शर्मा ने कहा कि हम सबसे पहले देश के नागरिक हैं, उसके बाद डॉक्टर, इंजीनियर और क्रिकेटर है। सालों से पाकिस्तान भारत के खिलाफ आतंकी हमले करवाकर देश की अखंडता को नुकसान पहुंचाने की कोशिश कर रहा है। ऐसे में हम पाकिस्तान के साथ कैसे खेल सकते हैं। क्रिकेट ही खेलना है तो दुनिया के कई और देश भी हैं उनके साथ खेलने में हमें कोई अपत्ति नहीं है। पाकिस्तान के साथ क्रिकेट खेलने की हिमायत करने वाले लोगों को पहले उन लोगों के बारे में सोचना होगा, जिन्होंने अपने लाडलों की जान आतंकी हमलों में गंवाई है।

यूटी क्रिकेट एसोसिएशन को जल्द मिल सकती है मान्यता
चेतन शर्मा ने बताया कि वैसे तो वह हरियाणा के तरफ से क्रिकेट खेले हैं इसलिए यूटी क्रिकेट एसोसिएशन के बारे में बोलना उनका बनता नहीं। फिर भी चंडीगढ़ में क्रिकेट खेलने के लिए बेहतर इंफ्रास्ट्रक्चर है, इस शहर ने कपिल देव, योगराज, राकेश जौली, अशोक मल्होत्रा और चेतन शर्मा जैसे क्रिकेटर देश को दिए हैं। हाल ही में बीसीसीआइ ने कुछ एसोसिएशन को मान्यता दी है, उम्मीद है कि चंडीगढ़ को भी जल्द मान्यता मिल जाएगी, जिससे युवा खिलाडिय़ों को फायदा होगा।

आइपीएल युवा क्रिकेटर्स के लिए बेहतर मंच
आइपीएल युवा क्रिकेटर्स के लिए बेहतर मंच है। आज कई युवा ऐसे हैं जो आइपीएल में खेलकर अपनी राष्ट्रीय पहचान रखते हैं। उन्होंने कहा कि आज आइपीएल में 200 से 250 क्रिकेटर खेल रहे हैं। इनमें से कुछ युवाओं ने आइपीएल में बेहतर प्रदर्शन कर इंडियन क्रिकेट टीम में जगह बनाई है। युवा क्रिकेटरों को कोचिंग देने के सवाल पर चेतन शर्मा ने कहा कि मैं कॉमेंट्री करता हूं, बतौर क्रिकेटर एक्सपर्ट कई खेल प्रोग्राम में होने वाली चर्चाओं में हिस्सा लेता हूं। ऐसे में अभी मैं स्थायी तौर खिलाडिय़ों को कोचिंग नहीं दे सकता हूं, हां, जब भी समय मिलता है मैं युवाओं के साथ क्रिकेट खेलने पहुंच जाता हूं और उन्हें क्रिकेट की कोचिंग देता हूं।
 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!