रोहित कुमार, चंडीगढ़ l पंजाब पुलिस के ट्रैफिक विभाग के पास अपना इंजीनियरिंग विंग होगा। मोहाली स्थित पंजाब रोड सेफ्टी एंड ट्रैफिक रिसर्च सेंटर में इंजीनियरों की भर्ती की जा रही है। अधिकारियों का कहना है कि अभी तक सेना के पास ही अपना इंजीनियरिंग विंग है।

पंजाब देश का पहला ऐसा राज्य होगा, जिसमें पुलिस विभाग के ट्रैफिक विंग के पास अपने इंजीनियर होंगे। ये इंजीनियर राज्य की सड़कों के बेहतर व सुरक्षित डिजाइन और निर्माण को लेकर काम करेंगे। इस काम के लिए 18 इंजीनियरों को रखा जाएगा।

भर्ती प्रक्रिया के लिए लिखित परीक्षा हो चुकी है। जल्द ही भर्ती प्रक्रिया की बाकी औपचारिकताओं को पूरा कर इंजीनियरों की नियुक्ति की जाएगी। राज्य सरकार के ट्रैफिक सलाहकार और सेंटर की कमान संभालने वाले डा. नवदीप असीजा ने बताया कि यह अपनी तरह की शानदार पहल है।

ऐसा देश में पहली बार होने जा रहा कि राज्य पुलिस के पास अपने इंजीनियर होंगे। जो इंजीनियर इस सेंटर में आ रहे हैं, वह पंजाब अर्बन डेवलपमेंट अथारिटी (पुडा) के अधीन आने वाली सभी अथारिटीज के साथ तालमेल बना कर काम करेंगे। जहां भी नई सड़कों का निर्माण किया जाना है, उसके डिजाइन से लेकर सभी प्रक्रिया इस सेंटर के माध्यम से की जाएगी, ताकि सड़क हादसों को कम किया जा सके।

एनएचएआइ की सड़कों के लिए भी करेंगे सर्वे

योजना है कि राज्य में सड़कों के निर्माण के लिए जो काम बाहरी कंपनियों से करवाया जा रहा है, वह रोड सेफ्टी एंड ट्रैफिक रिसर्च सेंटर के इंजीनियर करें। हालांकि, इसके लिए संबंधित विभाग को सेंटर को फीस देनी होगी। इसके लिए क्या नियम और शर्ते होंगी, यह अभी तय नहीं है।

सेंटर के इंजीनियर राज्य में इंटेलिजेंट सड़कें बनाने के लिए टीम के तौर पर काम करेंगे। एनएचएआइ की ओर से राज्य में जो सड़क बनाई जाएगी, उसमें भी इंजीनियर सर्वे करेंगे। क्षेत्रों की भौगोलिक स्थिति के हिसाब से ये अपनी राय देंगे। रिसर्च सेंटर राज्य में पहली इंटेलिजेंट सड़क बनाने पर काम कर रहा है। परियोजना को डेवलपमेंट आफ इंटेलिजेंट मोबिलिटी एंड एफिशिएंट ट्रैफिक कंट्रोल सिस्टम का नाम दिया गया है।

Edited By: Kamlesh Bhatt

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट