जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। शहर में आज दशहरा मनाया जाएगा। रावण के पुतले भी जलेंगे, लेकिन आतिशबाजी नहीं होगी। क्योंकि प्रशासन ने पटाखों पर रोक लगा दी है। ऐसे में रावण तो जलेंगे लेकिन बिना आतिशबाजी के ही। वहीं, चंडीगढ़ भाजपा अध्यक्ष अरुण सूद के आश्वासन के बाद दशहरा मनाने वाली कमेटियों में हिम्मत आ गई है। ऐसे में प्रशासन की ओर से लगाई गई पाबंदी के बावजूद शहर में रावण के पुतलों में आतिशबाजी भी चलेगी। प्रशासन और पुलिस कोई कार्रवाई नहीं करेगा। 

भाजपा अध्यक्ष अरुण सूद खुद चार दशहरा कार्यक्रमों में भाग लेंगे। सूद ने भाजपा नेताओं को भी दशहरा कार्यक्रमों में भाग लेने के लिए कहा है ताकि आयोजक कमेटियों की मदद की जा सके। प्रदेश प्रवक्ता कैलाश चंद जैन ने बताया कि भाजपा प्रदेशाध्यक्ष अरुण सूद ने मामले में  प्रशासक एवं सलाहकार से बात कर चुके हैं। पुलिस प्रशासन से इस संबंध में भी बात की है। उन्होंने इन अधिकारियों को बताया एनजीटी का आर्डर दशहरे के लिए नहीं है। अरुण सूद का कहना है कि दशहरा हिंदुओं का एक बहुत बड़ा त्योहार है। दशहरे पर रावण का पुतला जलाना सदियों पुरानी रीत है और पुतले में पटाखे जलाए ही जाते हैं। यह हिंदुओं की आस्था का सवाल है ना केवल हिंदू बल के प्रत्येक भारतवासी दशहरे को बड़े धूमधाम से मनाता है। इसलिए इस त्योहार पर पटाखों पर  बैन लगाना ठीक नहीं है। इस पर प्रशासन द्वारा सकारात्मक रैवैया दिखाया व अरुण सूद ने घोषणा की कि दशहरे का त्योहार पहले की तरह धूमधाम से मनाया जाएगा। किसी प्रकार की कोई कटौती नहीं होगी।

भाजपा अध्यक्ष अरुण सूद का दावा है कि किसी पर भी कोई कार्रवाई नहीं होने दी जाएगी। भाजपा अध्यक्ष सूद ने कहा कि वह खुद भी आज चार अलग अलग जगह दशहरा कार्यक्रमों में भाग लेंगे। मालूम हो कि इस समय शहर में दशहरा मना रही आयोजक कमेटियों में भम्र की स्थिति बनी हुई है कि वह आतिशबाजी का प्रयोग करे या नहीं।

Edited By: Ankesh Thakur