चंडीगढ़, जेएनएन। ट्रैफिक डीएसपी एसपीएस सोंधी और नर्सिंग ऑफिसर के बीच हुई मारपीट के 24 घंटे बीत जाने के बाद भी मामले में कोई एफआइआर दर्ज नहीं की गई है। वहीं, इस मामले की स्पेशल रिपोर्ट बनाकर डीएसपी सेंट्रल कृष्ण कुमार ने एसएसपी को भेज दी है। अब सोमवार को एसएसपी कार्रवाई के आदेश जारी कर सकती हैं। यह रिपोर्ट नर्सिंग ऑफिसर शिवनाथ और डीएसपी सोंधी के बयान दर्ज करने के बाद भेजी गई है। सेक्टर-17 थाना पुलिस द्वारा मामले में अभी तक डीडीआर ही दर्ज की गई है। पुलिस ने नर्सिग ऑफिसर को 24 घंटे बीत जाने के बाद डीडीआर की कॉपी दी है।

एसआइ कैसे कर सकते हैं डीएसपी स्तर के अफसर की जांच
अब सवाल यह भी है कि मामले की जांच सेक्टर-22 चौकी में तैनात सब इंस्पेक्टर कर रहा है। नियमों के तहत डीएसपी पर लगे आरोपों की जांच एसपी स्तर के अधिकारी को करनी होती है। बता दें कि सारंगपुर निवासी पीजीआई नर्सिग स्टाफ ऑफिसर शिवनाथ बाइक पर बच्चों सहित स्कूल की पीटीएम में भाग लेने के बाद वापस घर जा रहे थे। रेड लाइट होने पर वह सेक्टर-22 स्थित किरण सिनेमा लाइट प्वाइंट पर खड़े हो गए।

आरोप : गनमैन ने पकड़ा, डीएसपी ने मारा
आरोप है कि इस दौरान डीएसपी ट्रैफिक एसपीएस सोंधी अपनी गाड़ी में आए और उन्होंने चालक को बाइक के आगे बच्चे बैठाने और महिला को बिना हेलमेट पहने देखकर ट्रैफिक नियमों की पालना की बात कही थी। शिवनाथ ने आरोप लगाया था कि सोंधी के गनमैन ने उनको पकड़ा और डीएसपी ने उसकी पिटाई की थी। नाक पर हाथ मारने से उसका खून बहने लगा था। लोगों ने बीचबचाव किया था। सेक्टर-22 चौकी पुलिस मौके पर पहुंची थी। पुलिस ने शिवनाथ का मेडिकल करवाया था। इस दौरान शिवनाथ और डीएसपी ने एक-दूसरे के खिलाफ मामला दर्ज करवाने की शिकायत दी थी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!