राज्य ब्यूरो, चंडीगढ़: दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (डीएसजीएमसी) ने बॉलीवुड अभिनेत्री सनी लियोनी के नाम पर बन रही फिल्म में उनके नाम के आगे 'कौर' शब्द का इस्तेमाल करने पर गंभीर नोटिस लिया है। कमेटी ने फिल्म निर्माता सुभाष चंद्र (एसएल ग्रुप) को कहा है कि वह या तो इस शब्द को फिल्म से हटा लें या फिर सिख भावनाओं को ठेस पहुंचाने पर नतीजे भुगतने को तैयार रहें। सुभाष चंद्र को लिखे इस पत्र में कमेटी के जनरल सेक्रेटरी मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा कि 'करनजीत कौर- द अनटोल्ड स्टोरी ऑफ सनी लियोनी' नाम की फिल्म में सनी लियोनी के जीवन को दर्शाया गया है। इससे सिख भावनाओं को गहरी चोट लगी है। उन्होंने कहा कि हैरानी इस बात की है कि उत्तर भारतीय होते हुए व पंजाबी जीवन शैली से भलीभाति परिचित होने के बावजूद उन्होंने कौर शब्द के साथ फिल्म बनाने की अनुमति बनाने की मंजूरी दी। उन्होंने कहा की कौर शब्द हर सिख महिला के नाम के साथ लगता है। इससे उसे गुरु साहिब की तरफ से बख्शी गई अलग पहचान हासिल होती है। उन्होंने कहा कि उनको इस बात पर ऐतराज नहीं है कि सनी लियोनी का अतीत कैसा रहा है और उनके जीवन पर फिल्म बन रही है। उन्होंने सनी लियोनी के नाम से प्रसिद्धि पाई है, तो फिल्म करनजीत कौर नाम से क्यों बनाई जा रही है? उन्होंने कहा की डीएसजीएमसी ने इससे पहले जैकलीन फर्नाडिज की ओर से किरपाण धारण कर गाने का विरोध किया था। इसके बाद उन्हें गाने में संशोधन करना पड़ा था। इसी तरह तारक मेहता का उल्टा चश्मा में गुरु गोबिंद सिंह का चरित्र दिखाने का भी विरोध किया गया था। डीएसजीएससी सिख मर्यादा के साथ छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं करेगी।