जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। शहर में रविवार पंजाब हरियाणा हाई कोर्ट में ड्राइवर भर्ती परीक्षा का पेपर हो रहा है। शहर में इसके लिए कई सेंटर बनाए गए हैं। अजीत करमजीत सिंह इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर-41 में बनाए एग्जाम सेंटर के बाहर हंगामा हो गया। भर्ती परीक्षा का पेपर देने पहुंचे आवेदकों को गेट पर ही रोक दिया गया है। क्योंकि परीक्षा केंद्र में जाने से पहले अभियार्थियों से कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लगे होने की बात कही गई।

इस पर पेपर देने पहुंचे लोग भड़क गए। उनका आरोप है कि कोरोना वैक्सीन की दोनों टीके लगे होना जरूरी हों ऐसी कोई भी जानकारी उन्हें नहीं दी गई है। वहीं, स्कूल के एंट्री गेट पर पेपर देने पहुंचे अभियार्थियों को कोरोना टीके की दोनों डोज का सर्टिफिकेट दिखाने को कहा जा रहा है। आवेदकों का कहना है कि उन्हें वैक्सीन की एक डोज लगी हुई हैं, लेकिन उन्हें परीक्षा के लिए स्कूल में एंट्री नहीं दी जा रही।

एग्जाम देने पहुंचे आवेदक नवीन का कहना है कि वैक्सीन को लेकर कोई भी जानकारी पहले जारी नहीं की गई थी, जिसके चलते एग्जाम के लिए आज चंडीगढ़ के अलावा पंजाब हरियाणा के भी सैकड़ों आवेदक बिना डबल डोज के एग्जाम में आए हैं। एग्जाम 10:00 बजे शुरू होना है जिसके लिए एंट्री 9:30 बजे करनी थी थी, लेकिन गेट पर डबल डोज को लेकर शर्त रखी गई। आवेदक गेट पर खड़े होकर अंदर जाने की जिद कर रहे हैं और नारेबाजी कर रहे हैं। नवीन ने बताया कि एक टीका लगे होने के बाबजूद भी एंट्री नहीं दी जा रही और कोरोना टेस्ट की नेगेटिव रिपोर्ट को भी मानने से इंकार किया जा रहा है।

पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय में ड्राइवर के 353 पदों पर भर्ती की जा रही है। जिसके लिए आज पेपर आयोजित किया गया था। आवेदक को पंजाबी/हिंदी विषय के साथ कम से कम मिडिल पास होना जरूरी है। उसके पास एलटीवी का वैध लाइसेंस होना चाहिए। कार चालक को कम से कम दो साल का अनुभव होना चाहिए।

Edited By: Ankesh Thakur