कुराली, जेएनएन। आतिशबाजी के गढ़ के तौर पर विख्यात कुराली में दीपावली का पर्व नजदीक आने के चलते पटाखों का करोड़ों में होने वाला अवैध कारोबार प्रफुल्लित हो रहा है। हालांकि प्रशासन द्वारा बिना लाइसेंस अवैध आतिशबाजी की दुकानें चलाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के दावों के बीच दो दिन पहले दो दुकानों को सील भी किया जा चुका है। बावजूद इसके प्रशासन की नाक तले अवैध पटाखा कारोबारी एवं लाइसेंस होल्डर्स दुकानों एवं गोदामों में लाइसेंस की क्षमता से अधिक आतिशबाजी स्टोर कर प्रशासन की कार्रवाई से बेखौफ धड़ल्ले से कारोबार को चला रहे हैं।

बिना फायर टेंडर सजा आतिशबाजी का बाजार

पटाखों की बड़ी होलसेल मंडी होने के चलते कुराली में बड़े स्तर पर बारूद का कारोबार होता है। बावजूद इसके शहर में प्रशासन की ओर से एक भी फायर टेंडर को तैनात नहीं किया गया। हालांकि डीसी मोहाली गिरीश दयालन एवं एसडीएम द्वारा जल्द फायर टेंडर को तैनात करने के पिछले काफी समय से आश्वासन दिया जा रहा है, पर हकीकत यह है कि दीपावली के पर्व को महज कुछ दिन ही शेष रहने के चलते शहर में पटाखों का कारोबार शबाब पर है और ऐसे में फायर टेंडर की गैमौजूदगी में एक चिंगारी बड़े हादसे के रूप में परिवर्तित हो कर जानी नुक्सान का कारण बन सकती है।

कार्यकारी अधिकारी ने अवैध पटाखों की दुकानों को करवाया बंद

बडाली मार्ग पर बिना लाइसेंस अवैध रूप से चलाई जा रही दुकानों के बाबत एसडीएम हिमांशु जैन के दिशा निर्देशों पर कार्रवाई करते हुए मंगलवार दोपहर काउंसिल के कार्यकारी अधिकारी विरेंदर जैन द्वारा थाना सिटी के एएसआइ बलविंदर सिंह की अगुआई में पुलिस पार्टी को साथ लेकर पुलिस प्रोटेक्शन के बीच बडाली मार्ग पर पटाखों की अवैध दुकानों को बंद करवाया गया। लोगों द्वारा मौके पर तो दुकानें बंद कर दी गई, पर टीम के वापिस जाते ही फिर से दुकानें खोल पटाखों का बिना लाइसेंस अवैध व्यापार आरंभ कर दिया गया।

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!