जेेेेएनएन, चंडीगढ़। शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से कोरोना के खिलाफ लड़ाई और कर्फ्यू से लोगों को आ रहींं परेशानियों का समाधान ढ़ूंढऩे के लिए सर्वदलीय बैठक बुलाने की मांग की है। मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में सुखबीर ने कहा कि किसानों, स्वास्थ्य कर्मचारियों, व्यापारियों, दिहाड़ीदारों समेत आम लोगों के लिए कई तरह की समस्याएं खड़ी हो गई हैं। इनका तत्काल समाधान ढ़ूंढ़ने की आवश्यकता है।

सुखबीर ने लिखा कि गेहूं की कटाई सिर पर आ गई है, लेकिन मजदूरों व कंबाइन हार्वेस्टरों की भारी कमी है। खरीदे गए गेहूं को उठाने के लिए विशेष प्रबंध किए जाने की आवश्यकता है, क्योंकि कोरोना वायरस के खतरे के कारण किसानों व व्यापारियों के बड़े स्तर पर एकत्रित होने की आज्ञा नहीं दी जा सकती। इन मुद्दों को तत्काल हल न करने से देया में अनाज का संकट पैदा हो सकता है।

उन्होंने कहा कि बहुत सारे लोगों के पास खाने पीने की वस्तुएं, दवाइयां, फल व सब्जियां भी खत्म हो गई हैं। हर नागरिक के लिए इन प्राथमिक चीजों की सप्लाई को तत्काल बहाल किया जाना चाहिए, क्योंकि ऐसा करने से प्रशासन को पंजाबियों को घरों में रखने में मदद मिलेगी। पशुओं के लिए चारे की सप्लाई बुरी तरह बाधित हुई है, इसे तत्काल ठीक करने की आवश्यकता है। मरीजों का उपचार कर रहे डॉक्टरों, नर्सों व बाकी मेडिकल स्टाफ के पास पीपीई किटें तक नही हैं। अस्पतालों में वेंटीलेटरों, दवाइयों व बाकी मेडिकल उपकरणों की भारी कमी पाई जा रही है।

चार गुणा ज्यादा मूल्य पर सरेआम बिक रही शराब: आप

आम आदमी पार्टी ने कर्फ्यू के दौरान सरेआम शराब बिकने की आलोचना की है। आप का आरोप है कि दो नंबर की शराब की सप्लाई धड़ल्ले से हो रही है। इससे सरकार को तो राजस्व का घाटा हो रहा है, लेकिन ग्राहकों को चार गुणा तक ज्यादा पैसे देने पड़ रहे हैं। यही स्थिति केबल नेटवर्क को लेकर भी है। विपक्ष के नेता हरपाल सिंह चीमा, उप नेता सरबजीत कौर माणूके और विधायक मीत हेयर ने कहा कि कर्फ्यू के दौरान शराब व केबल माफिया ने अपने-अपने तरीके से आतंक मचा रखा है और कांग्रेस सरकार सो रही है।

चीमा ने कहा कि सरकार ने कर्फ्यू की स्थिति में शराब की बिक्री या पाबंदी के बारे में कोई स्पष्ट दिशा-निर्देश जारी नहीं किए हैं। शराब के ठेके सील नहीं किए गए और न ही बिक्री के बारे में समय सीमा तय की गई है। शराब माफिया के बड़े और प्रभावशाली खिलाडिय़ों में सत्ताधारी पक्ष के बड़े नेता शामिल हैं। उनकी तरफ से दो नंबर में शराब की नाजायज बिक्री करवाई जा रही है। मीत हेयर ने कहा कि शराब फैक्टरियों से सीधे व दूसरे रा'यों की शराब की नाजायज बिक्री से लोगों को लूटा जा रहा है। सरकारी खजाने को भी रोजाना करोड़ों रुपये की चपत लग रही है। बीबी सरबजीत कौर माणूके ने कहा कि सरकार केबल कंपनी को वसूली करने से रोके।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!