डाॅ.सुमित सिंह श्योराण, चंडीगढ़। पंजाब यूनिवर्सिटी चंडीगढ़ (Punjab University Chandigarh) और एफिलिएटेड 194 काॅलेजों के पांच हजार से अधिक शिक्षकों ने सातवें पे कमीशन (7th Pay Commission) तुरंत लागू किए जाने की मांग की है। इस मामले को लेकर पंजाब की सभी यूनिवर्सिटी और काॅलेजों के कर्मचारी और प्रोफेसर भी एकजुट हो गए हैं। बीते कई महीनों से 7वें पे कमीशन को लेकर विरोध प्रदर्शन जारी है, लेकिन अभी तक पंजाब सरकार की ओर से इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

मामले में अब नए रणनीति तैयार करने के लिए शुक्रवार को लुधियाना में पंजाब यूनिवर्सिटी टीचर्स यूनियन (पुटा) और पंजाब फेडरेशन ऑफ यूनिवर्सिटी एंड काॅलेज टीचर्स (पीफैक्टो) ने मिलकर विरोध रैली में हिस्सा लिया। पुटा की ओर से प्रेसिडेंट डाॅ. मृत्युंजय कुमार और सचिव प्रो. अमरजीत सिंह ने लुधियाना रैली में हिस्सा लिया। रैली में पंजाब के सभी काॅलेज और यूनिवर्सिटी से जुड़े पदाधिकारियों ने पंजाब सरकार की ओर से 7वें पे कमीशन को लागू करने में हो रही देरी का विरोध किया। पदाधिकारियों ने मिलकर मामले को लेकर नई रणनीति की भी घोषणा की है।

जानकारी अनुसार अगस्त से पूरे पंजाब में पंजाब की सभी यूनिवर्सिटी और काॅलेजों के टीचर्स लगातार पंजाब सरकार के खिलाफ हल्ला बोलेंगे। पीफैक्टो जनरल सेक्रेटरी डाॅ. जगवंत सिंह ने कहा कि पंजाब सरकार टीचर्स से किए वादों को पूरा करने में पूरी तरह से विफल रही है। सरकार को तुरंत यूजीसी के पे स्कैल को काॅलेज और यूनिवर्सिटी स्तर पर लागू किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि केंद्र और दूसरे राज्यों ने शिक्षकों के लिए नया पे कमीशन लागू कर दिया है। अपनी मांगों को लेकर जल्द ही पुटा और पीपैक्टो के सदस्य पंजाब कांग्रेस के नए अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू और पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से भी मुलाकात करेंगे। डाॅ. जगवंत ने कहा कि पंजाब सरकार द्वारा पांच महीने पहले यूजीसी स्कैल को डिलिंग किए जाने के मामले को वापस लिए जाने के मामले में भी कुछ नहीं किया है।

24 अगस्त को पीयू में रैली

7वें पे कमीशन को लागू नहीं किए जाने के विरोध में अगस्त से पंजाब यूनिवर्सिटी और पंजाब की विभिन्न यूनिवर्सिटी सहित कॉलेजों में विरोध प्रदर्शन किया जाएगा। पांच अगस्त को लुधियाना, 11 अगस्त को जीएनडीयू अमृतसर और 24 अगस्त को पंजाब यूनिवर्सिटी चंडीगढ़ में धरना और रैली का आयोजन किया जाएगा। इसके बाद भी मामले में कार्रवाई नहीं हुई 25 अगस्त से पूरे प्रदेश में रैली धरने शुरू कर दिए जाएंगे। डाॅ. मृत्युंजय कुमार ने कहा कि शिक्षकों को 7वां पे कमीशन दिलाने के लिए सभी शिक्षक और कर्मचारी एकजुट हैं।

Edited By: Ankesh Thakur