जासं, मोहाली : इंडस्ट्रियल एरिया फेज-1 स्थित प्लॉट नंबर डी-37 से वीरवार सुबह पुलिस ने एक व्यक्ति का जला हुआ शव बरामद किया।

मृतक की पहचान शहर के बलौंगी आदर्श कॉलोनी के रहने वाले 37 वर्षीय नगेंद्र ¨सह उर्फ लाला के रूप में हुई है। नगेंद्र मूल रूप से उत्तर प्रदेश के गौरखपुर जिले का निवासी था।

पुलिस के मुताबिक नगेंद्र के पैरों को छोड़कर उसका पूरा शरीर बूरी तरह से झुलसा मिला। इस कारण उसकी शिनाख्त में पुलिस को थोड़ी परेशानी हुई। क्योंकि परिजनों व पड़ोसियों ने भी पहले नगेंद्र के शव को पहचानने से इन्कार कर दिया था। पुलिस ने शव के पास से मिली स्कूटी के आधार पर नगेंद्र के शव की शिनाख्त की। पत्नी बोली- किसी से पैसे लेने की बात कहकर घर से निकला था नरेंद्र

पुलिस फिलहाल मामले को आत्महत्या मान रही है, लेकिन इस मामले में मर्डर के शक वाले प्वाइंट पर भी पुलिस की जांच चल रही है। उधर, मृतक की पत्नी का कहना है कि नगेंद्र घर से कहकर गया था कि वह किसी से पैसे लेने जा रहा है।

फेज-6 में है नरेंद्र की फैक्ट्री

नगेंद्र की फेज-6 में प्लाट नंबर सी-56 में नगेंद्र फैब्रीकेशन के नाम से फैक्ट्री है। वहीं प्लॉट नंबर डी-37 में उसके दोस्त योगेश की भी फैब्रीकेशन की फैक्ट्री है, जहां उसका अक्सर आना जाना लगा रहता था। बलौंगी आदर्श कॉलोनी निवासी जय¨हद योगेश के पास काम करता है। जय¨हद वीरवार को सवा 8 बजे जब फैक्ट्री पहुंचा तो उसने नगेंद्र की स्कूटी वहां खड़ी देखी। जब वह थोड़ा आगे गया तो देखा कि योगेश की फैक्ट्री के बाहर नगेंद्र का शव पड़ा था और उससे आग की लपटें उठ रही थीं। उसने तुरंत प्लॉट मालिक हरमीत ¨सह को इसकी जानकारी दी। थोड़ी देर में प्लॉट मालिक हरमीत ¨सह वहां पहुंच गया। सूचना पाकर फेज-1 थाना पुलिस मौके पर पहुंची। कुछ देर पहले ही फोन पर की थी पड़ोसी से बात

दूसरी ओर नगेंद्र के पड़ोसी अतुल गुप्ता ने बताया कि पौने 8 बजे उसे नगेंद्र का फोन आया था। उसने कहा कि वह डी-37 प्लॉट पर है। कोई जरूरी काम है। थोड़ी देर में आकर तुझसे मिलता हूं, उसके बाद फोन कट गया। वहीं प्लॉट मालिक ने बताया साढे़ 6 बजे उसने गेट खोला और गाड़ी धोई, तब तक वहां कोई नहीं था। नगेंद्र किस समय वहां आया, उन्हें भी इसकी भनक नहीं लगी।

स्कूटी से निकाला गया था पेट्रोल, मौके पर मिला डिब्बा

नगेंद्र ने प्लॉट में  पहुंचकर अपनी स्कूटी से एक डिब्बे में पेट्रोल निकाला। घटना स्थल पर की गई जांच में पुलिस को नगेंद्र की स्कूटी की डिग्गी से पेट्रोल गिरा हुआ मिला। जब पुलिस ने स्कूटी की डिग्गी चेक की तो वहां से पेट्रोल निकालने वाली पाइप बरामद हुई। वहीं जहां नगेंद्र का शव पड़ा था, उसके पास एक छोटा सा डिब्बा पड़ा मिला, जिसमें कागज के जले हुए कुछ टुकड़े भी पड़े थे। पुलिस अंदाजा लगा रही है कि अपने ऊपर पेट्रोल छिड़कने के बाद नगेंद्र ने कागजों में आग लगाकर आत्महत्या कर ली होगी। घटना स्थल के पास कच्ची जमीन पर नगेंद्र ने कुछ हिसाब लिखा हुआ था। उसने जमीन पर 300, 300 और बाद में 500 फिर 300 लिखकर कोई हिसाब बनाया था। वहीं पुलिस ने अपनी जांच में उस हिसाब को भी शामिल किया, जिस पर जांच की जा रही है। आने से पहले पड़ोसी को 10 हजार का दिया चेक

नगेंद्र के पड़ोसी उपेंद्र की बलौंगी में करियाने की दुकान है। उपेंद्र ने बताया कि नगेंद्र पहले किराये के मकान में रहता था। करीब पांच महीने पहले नगेंद्र ने अपना मकान बनाने के लिए उससे एक लाख रुपये उधार लिए थे। वीरवार सुबह सवा 7 बजे दुकान खोलते वक्त नगेंद्र उसके पास आया औ 10 हजार रुपये का चेक देते हुए कहा कि उसके पास समय नहीं है, इसलिए वह खुद ही जाकर खाते से पैसे निकलवा ले। उसने जाने से पहले कहा कि वह जल्दी में है।

6 माह पहले गन प्वाइंट पर एक लाख 45 हजार की हुई थी लूट 

नगेंद्र के पड़ोसियों ने बताया कि करीब 6 महीने पहले इंडस्ट्रियल एरिया फेज-7 में स्टेट बैंक ऑफ पटियाला के बाहर कुछ बदमाशों ने गन प्वाइंट पर नगेंद्र से लूट की वारदात को अंजाम दिया था। लूटी गई रकम 1 लाख 45 हजार रुपये बताई गई थी। इस मामले में पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज किया था, मगर लुटेरों को गिरफ्तार नहीं किया जा सका।

सवाल : आत्महत्या या मर्डर

- अपनी फैक्ट्री या घर छोड़कर नगेंद्र ने योगेश की फैक्ट्री के बाहर क्यों की आत्महत्या

-आग लगने के दौरान महज 10 मीटर की दूरी पर रह रहे प्लॉट मालिक को क्यों नहीं सुनाई दी नगेंद्र की चीखें

-नगेंद्र का किसके साथ था पैसों का था लेन-देन

- मुंह से बाहर निकली थी जीभ, गला घोंटकर मारे जाने का भी शक

- जमीन पर नहीं गिरा था पेट्रोल का एक भी कतरा 

- मौके पर नहीं मिले छटपटाहट के कोई निशान अभी लाश का पोस्टमार्टम करवाया जा रहा है। रिपोर्ट आने के बाद ही मामले में असल कार्रवाई की जाएगी। कुछ तथ्यों के आधार पर मामले की मर्डर के तौर पर जांच की जा रही है। फिलहाल केस आत्महत्या का ही लग रहा है। 

- अमरजीत ¨सह, जांच अधिकारी फेज-1 थाना

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!