जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। Covid-19: चंडीगढ़ में कोरोना संक्रमण के मामले बहुत कम हो गए हैं। शहर में बीते 24 घंटे में पांच लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। यह नए मामले सेक्टर-19, 26, 35 में एक-एक और सेक्टर-48 में दो लोग संक्रमित मिले हैं। इसमें दो पुरुष और तीन महिलाएं शामिल हैं। अभी तक 65,181 लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि हो चुकी है। संक्रमण दर 0.23 फीसद दर्ज की गई। बीते एक हफ्ते में रोजाना औसत चार लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। इस समय 37 कोरोना एक्टिव मरीजों का इलाज चल रहा है।

स्वास्थ्य विभाग अभी तक 7,12,826 लोगों के कोविड सैंपल लेकर टेस्टिंग कर चुका है। इनमें से 6,46,287 लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। बीते 24 घंटे में 2,193 लोगों के कोविड सैंपल लेकर टेस्टिंग की गई। टेस्टिंग के दौरान अभी तक 1,358 लोगों के सैंपल खारिज किए जा चुके हैं। तीन संक्रमित मरीजों को ठीक होने के बाद डिस्चार्ज किया गया। अभी तक 64,326 संक्रमित मरीज ठीक हो चुके हैं। 818 लोगों की अभी तक संक्रमण से मौत हो चुकी है।

पीजीआइ में थैलेसेमिक चैरिटेबल ट्रस्ट की ओर से लगाए गए शिविर में 83 लोगों ने रक्तदान किया।ट्रस्ट की ओर से 230वां रक्तदान शिविर लगाया गया था।ट्रस्ट के मेंबर सेक्रेटरी राजिंदर कालरा ने बताया कि अगला रक्तदान शिविर 25 सितंबर को पीजीआइ में लगाया जाएगा। छह जून 2020 से लेकर अब तक कोरोना महामारी में ट्रस्ट 46 रक्तदान शिविर लगा चुका है।ट्रस्ट की ओर से थैलेसेमिक मरीजों के इलाज के लिए अब तक 4,680 यूनिट ब्लड इक्ट्ठा कर चुका है।

यह शिविर पीजीआइ के ब्लड ट्रांसफ्यूजन विभाग के सहयोग से लगाया गया।ट्रस्ट के बारे में बताते हुए राजिंदर कालरा ने कहा कि वर्ष 1985 से थैलेसेमिक मरीजों के इलाज के लिए उनकी संस्था कार्य कर रही है।पंजाब, हरियाणा, हिमाचल, जम्मू व कश्मीर, उत्तर प्रदेश और बाकी राज्यों के कुल 450 थैलेसीमिया के मरीजों को ट्रस्ट की ओर से निशुल्क इलाज मुहैया कराया जा रहा है।ट्रस्ट पीजीआइ और जीएमसीएच-32 में टू डे केयर सेंटर चला रहे हैं।इन सेंटर्स में थैलेसीमिया के मरीजों को इलाज से लेकर दवाईयां तक निशुल्क उपलब्ध कराया जाता है।

Edited By: Ankesh Thakur