चंडीगढ़, जेएनएन।  पार्षद एवं पूर्व डिप्टी मेयर व ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी की सदस्य शीला देवी का कहना है कि बीजेपी पार्टी और उनके नेताओं की हमेशा से आदत रही है कि वह अपनी गलतियों और नाकामियों को छुपाने के लिए लोगों का ध्यान भटकाते हैं। चंडीगढ़ की समस्याएं सुलझाना तो दूर की बात है, आज एक एमपी के लिये यह नौबत आ गई है कि बीजेपी पार्टी की एमपी किरण खेर को एक वीडियो के माध्यम से सिर्फ यह साबित करना पड़ रहा है कि वह चंडीगढ़ में ही हैं।

उस वीडियो में भी वह बस यही कह रहीं हैं कि वह चंडीगढ़ में ही हैं। क्या एक एमपी का सिर्फ शहर में होना काफी है। अगर कोई वीडियो डालना भी था तो कम से कम किसी समस्या का समाधान करते हुए वाली वीडियो डालती तो ज्यादा अच्छा होता। शहर की एमपी होने के नाते उन्हें आगे आना चाहिए इसलिए उन्हें चंडीगढ़ के हालात पर सोचना चाहिए और उनका समाधान करना चाहिए।

 

पार्षद एवं पूर्व डिप्टी मेयर शीला देवी ने कहा कि पवन कुमार बंसल के होते हुए चंडीगढ़ प्रशासन या कोर्पोरेशन या चंडीगढ़ को कभी भी फंड की कमी नही आई। जब भी चंडीगढ़ को किसी बड़े प्रोजेक्ट के लिये या म्युनिसिपल कोर्पोरेशन के सामने पैसों का संकट आया तो पवन बंसल केंद्र से पैसा लेकर आये और कभी कोई काम नही रुकने दिया। 

 

कांग्रेस के समय कोर्पोरेशन के पास कई करोड़ों की एफडी थी और विकास का पहिया हमेशा चलता रहा। पवन कुमार बंसल के एमपी रहते हुए चंडीगढ़ के विकास का पहिया हमेशा तेज गति से चलता रहा लेकिन आज बीजेपी शाषित चंडीगढ़ म्युनिसिपल कॉरपोरेशन की हालत बद से बदतर हो गई है और कर्मियों को सैलरी देने के पैसे भी नही हैं। चंडीगढ़ की जनता तो अब यह कहने लग गई है कि अगर डवलपमेंट के लिए पैसे नहीं हैं तो कोर्पोरेशन को भंग कर देना चाहिए।

 

पार्षद शीला देवी जी ने कहा कि यह भी जांच का विषय है कि बीजेपी शाषित कोर्पोरेशन ने करोड़ों रुपये के नये टैक्स जनता पर थोप दिए, जिससे कोर्पोरेशन की आय मे बढ़ोतरी हुई है लेकिन यह पैसा कहां गया इसकी स्पेशल एजेन्सी द्वारा जांच होनी चाहिए।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Vikas_Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!