जेएनएन, चंडीगढ़। Coronavirus India lockdown: कोरोना वायरस के मद्देनजऱ देशभर में लागू लॉकडाउन के दौरान पंजाब संकटमोचक की भूमिका में है। देशवासियों को गेहूं और चावल की उपलब्धता को यकीनी बनाने के मकसद से पंजाब से 20 विशेष मालगाड़ियों से 50,000 मीट्रिक टन गेहूं और चावल की सप्लाई की गई है।

इस सप्लाई से जहां जरूरतमंद लोगों को राशन उपलब्ध होगा, वहीं राज्य के गोदाम भी खाली होंगे। दरअसल, अगले माह से गेहूं की कटाई शुरू होनी है। आने वाली नई फसल को रखने के लिए राज्य के गोदामों में जगह नहीं थी। वहीं, खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री भारत भूषण आशु ने बताया कि 21 दिन के लॉकडाउन के दूसरे दिन राज्य में घर-घर सब्जियों, फल और अन्य जरूरी वस्तुओं की सप्लाई सुचारू ढंग से शुरू हो गई है।

यह भी पढ़ें: Curfew में मदद चाहिए तो Helpline no. 112 पर करें Dial, E pass के लिए Online Apply

आशु ने कहा कि शुरुआती दिक्कतों के बाद अब सप्लाई सुचारू होने लगी है। इसमें अभी और सुधार देखने को मिलेंगे। आशु ने बताया कि इन विशेष मालगाड़ियों में अनाज की लदाई के मौके पर काम कर रहे सभी पल्लेदारों को मास्क देने के अलावा हाथों को सैनेटाइज करवाया गया और इस बात को यकीनी बनाया गया कि एक-दूसरे से दूरी बनाकर काम करें, जिससे मौजूदा स्थिति में पल्लेदारों की स्वास्थ्य सुरक्षा को भी यकीनी बनाया जा सके।

उन्होंने बताया कि इस कार्य को निर्विघ्न पूरा करने के लिए पंजाब सरकार और एफसीआइ के अधिकारियों द्वारा बहुत सीमित अमले के साथ काम किया जा रहा है। खाद्य मंत्री ने कहा कि फूड कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया के जीएम अर्शदीप सिंह थिंद और खाद्य एवं सिविल सप्लाई विभाग के डायरेक्टर आनंदिता मित्रा द्वारा इस कार्य की लगातार निगरानी की जा रही है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!