चंडीगढ़ [बलवान करिवाल]: चंडीगढ़ आइटी पार्क की सबसे प्राइम लोकेशन पर पंजाब और हरियाणा ने अपने विधायकों और अधिकारियों के लिए लग्जरी फ्लैट मांगे थे। दोनों राज्यों की मांग को देखते हुए सीएचबी (Chandigarh Housing Board) ने विधायकों और अधिकारियों के लिए लग्जरी हाउसिंग प्रोजेक्ट की प्लानिंग की। इसकी ड्राइंग और प्लान तैयार कर लिया गया। एडवांस पैसा जमा नहीं कराने पर अब सीएचबी ने इस स्कीम को खत्म करने के लिए दोनों राज्यों को नोटिस भेज दिया है।

नोटिस में कहा गया है कि 60 दिनों में 25 फीसद राशि राज्यों ने जमा नहीं कराई तो स्कीम को रद कर दिया जाएगा। बोर्ड ने यह अंतिम नोटिस भेजा है। इसके बाद भी दोनों राज्यों ने पैसे नहीं दिए तो इस स्कीम की जगह जनरल हाउसिंग स्कीम लांच की जाएगी।

बोर्ड के चेयरमैन कम एडवाइजर धर्मपाल ने जनरल हाउ¨सग स्कीम प्लान करने के लिए कह भी दिया है। पंजाब, हरियाणा के साथ पीजीआइ ने भी अपनी फैकल्टी और अधिकारियों के लिए फ्लैट के दो टावर मांगे हैं। एडवांस देने के लिए पीजीआइ की कमेटी भी मंजूरी दे चुकी है। हालांकि पैसा अभी तक पीजीआइ से भी नहीं मिला है।

सीएचबी ने प्रोजेक्ट की ड्राइंग तक कर ली तैयार सीएचबी आइटी पार्क में लग्जरी हाउ¨सग स्कीम लांच करने की पूरी तैयार कर चुका है। इसकी ड्राइंग तक तैयार हो चुकी है। पंजाब-हरियाणा ने अपने विधायकों और अधिकारियों के लिए 56-56 फ्लैट मांगे थे। इसके लिए सीएचबी ने प्रोजेक्ट की 25 फीसद राशि एडवांस में जमा कराने के लिए दोनों राज्यों को कहा था। हरियाणा ने अपनी जमीन पर शुरू की प्लानिंग चंडीगढ़ को पैसे जमा कराने की बजाए हरियाणा अपनी चंडीगढ़ के साथ लगती जमीन पर हाउसिंग प्रोजेक्ट डेवलप करने की प्लानिंग कर चुका है।

बताया जा रहा है कि कि हरियाणा ने आइटी पार्क के ही साथ लगते सकेतड़ी में फ्लैट बनाने शुरू कर दिए हैं। अभी आफिसर्स के लिए हाउ¨सग प्रोजेक्ट पर काम शुरू किया गया है। इससे लग रहा है कि अब आइटी पार्क प्रोजेक्ट में वह रूचि नहीं दिखा रहे।

लग्जरी हाउसिंग प्रोजेक्ट में यह सुविधाएं 6.73 एकड़ एरिया की साइट पर यह फ्लैट्स तैयार होने हैं। टावर ग्राउंड प्लस सिक्स यानी सात मंजिला होगा। बेसमेंट पार्किग के लिए होगी। इसकी प्लानिंग ऐसे की गई है कि यह प्रोजेक्ट सभी तरह की आधुनिक सुविधाओं से युक्त हो। यह ग्रीन बि¨ल्डग कान्सेप्ट पर डेवलप की जानी है। जिम, स्विमिंग पूल, लिफ्ट, पार्किग, सीसीटीवी, रेन वाटर हार्वेस्टिंग, सर्वेट रूम की सुविधा होगी। बेसमेंट में इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए चार्जिग स्टेशन और रूफटाप सोलर पावर प्रोजेक्ट भी प्लान किए गए हैं।

प्रोजेक्ट रद हुआ तो दो जनरल हाउसिंग स्कीम बनेगी यह प्रोजेक्ट रद होता है तो आइटी पार्क में यह दूसरी जनरल हाउसिंग स्कीम होगी। इससे पहले चार एकड़ की साइट पर पहली स्कीम लांच की जाने वाली है। दिसंबर तक यह स्कीम लांच हो सकती है।

इनका कहना है

विधायकों और अधिकारियों के हाउसिंग प्रोजेक्ट के लिए अभी तक पंजाब और हरियाणा से एडवांस राशि नहीं मिली है। कई बार पहले रिमाइंडर दिए गए। अब 60 दिनों का फाइनल नोटिस दिया गया है। इसके बाद जवाब नहीं आता तो प्रोजेक्ट को खारिज किया जाएगा। - यशपाल गर्ग, सीईओ, सीएचबी।